Home / राजस्थान / करौली / राजस्थान में इस जगह पर टाईगर ने किया युवक पर हमला, युवक की हुई मौके पर ही मौत।

राजस्थान में इस जगह पर टाईगर ने किया युवक पर हमला, युवक की हुई मौके पर ही मौत।

 

(करौली) सपोटरा- उपखंड सपोटरा की ग्राम पंचायत कालागुडा के सिमर बाग के पास स्थित मेदपुरा बांसारी गांव मे सुबह के समय खेतों में लगी रतालू की फसल में दवा छिड़कते समय टाइगर T-104 के द्वारा हमला कर दिया गया। जिसे युवक की मौके पर ही मौत हो गई।

 

ग्रामीणों के अनुसार मृतक पिंटू माली पुत्र रामसहाय माली उम्र 26 वर्ष सुबह के समय अपने खेतों में लगी रतालू की फसल में दवा छिड़क रहा था तभी खेत में छुपकर बैठा टाइगर टी 104 ने पीछे से पिंटू माली पर हमला कर दिया।

पिंटू माली पर जैसे ही बाघ ने हमला किया तो पिंटू माली तेज आवाज में चिल्लाने लगा जिसकी आवाज सुनकर उसके परिवार जन और ग्रामीण उसको बचाने के लिए दौड़ पड़े लेकिन बाघ पिंटू माली की गर्दन को पकड़कर घसीटता हुआ दूर खेतों में ले गया ग्रामीणों के सहयोग से जब तक बाघ के कब्जे से युवक को छुड़ाया गया तब तक युवक ने दम तोड़ दिया और उसकी मौत हो गई। 

घटना की सूचना आसपास के पूरे इलाके में आग की तरह फैल गई।

ग्रामीणों ने लगाया वन कर्मियों पर भागने का आरोप

ग्रामीणों का आरोप है कि टाइगर के द्वारा युवक का शिकार करने की घटना के समय वन विभाग का दल गांव में ही मौजूद था। बाघ के हमले की जानकारी मिलने पर वन विभाग के कमचारियों ने युवक को बचाने के प्रयास नहीं किए तथा मौके से भाग गए। वन विभाग के कर्मचारियों की इस लापरवाही पर ग्रामीणों ने नाराजगी जताई है।

 

ग्रामीणों ने वन कर्मियों को बनाया बंधक।

 

टाइगर द्वारा युवक का शिकार करने की घटना के बाद जब वन कर्मी भागने लगे तो ग्रामीणों ने वन कर्मियों को पकड़कर बंधक बना लिया ग्रामीणों का आरोप है कि वन कर्मियों के द्वारा बाघ से युवक को बचाने का किसी प्रकार का सहयोग नहीं किया गया।

जिसके कारण आक्रोशित ग्रामीणों ने वन कर्मियों को बंधक बना लिया।

जिनको बाद में छोड़ा गया।

सूचना पर पहुंची पुलिस-वन विभाग की टीम

 

सुबह 8:00 बजे बाघ ने युवक पर हमला किया। इसकी सूचना ग्रामीणों ने सपोटरा पुलिस व वन विभाग की टीम को दी। ग्रामीणों की सूचना पर 10:00 बजे सपोटरा थानाधिकारी भंवरलाल बुनकर मय जाब्ते के घटनास्थल पर पहुंचे और घटना के बारे में साक्ष्य जुटाये। घटनास्थल पर 11:00 बजे तक वन विभाग के उच्च अधिकारियों के नहीं पहुंचने पर ग्रामीणों ने रोष भी जताया।

 

मुआवजे की मांग पर बनी सहमति तब हुआ मृतक का पोस्टमार्टम।

 

बाघ के हमले से हुई युवक की मौत को लेकर ग्रामीण आक्रोशित होकर शव को लेकर धरने पर बैठ गए और मुआवजे की मांग करने लगे। मौके पर पहुंचे वन विभाग के अधिकारियों और प्रशासन के द्वारा ग्रामीणों से समझाइश को लेकर बातचीत की गई लेकिन ग्रामीण मुआवजे की मांग को लेकर अड़े रहे।

मौके पर पहुंचे डीएफओ हेमंत सिंह और एडीएम सुरेश कुमार करौली और दूरभाष पर खाद्य नागरिक आपूर्ति मंत्री रमेश चंद्र मीणा ने बातचीत करते हुए परिजनों और ग्रामीणों को ढांढस बंधाया और हर संभव मदद का आश्वासन दिया।

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री रमेश चंद मीणा के द्वारा फोन पर बातचीत करने के बाद वन विभाग के अधिकारियों और प्रशासन ने ग्रामीणों की मांग को मानते हुए कहा की पीड़ित परिवार को चार लाख रुपये की सहायता राशि वन विभाग की ओर से दी जाएगी और एक लाख रुपये की सहायता राशि सरकार की ओर से दी जाएगी ।जिस पर ग्रामीण शव का पोस्टमार्टम करवाने पर सहमत हो गए।

इसके बाद मृतक के शव को हाडोती स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया और शव का पोस्टमार्टम करने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

बाजारों में भीड़, कैसे हारेगा कोरोना

देवउठनी एकादशी के कारण इस समय बाजारों में जबरदस्त भीड़ उमड़ रही है। लोग बाजारों …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *