Home / राजस्थान / डूंगरपुर / राजस्थान शिक्षक संघ ( शेखावत) ने शिक्षकों को राशन वितरण सहित अन्य कार्य से मुक्त करने को लेकर जिला कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

राजस्थान शिक्षक संघ ( शेखावत) ने शिक्षकों को राशन वितरण सहित अन्य कार्य से मुक्त करने को लेकर जिला कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

डूंगरपुर। राजस्थान शिक्षक संघ (शेखावत) जिला कमेटी डूंगरपुर की ओर से मंगलवार को मेल के जरिए ज्ञापन भेजा कर जिलाध्यक्ष मणिलाल मालीवाड़, जिला मंत्री लीलाराम भगोरा, राज्य उपाध्यक्ष हेमंत कुमार खराड़ी ने बताया कि शिक्षकों को राशन वितरण सहित अन्य कार्यों से मुक्त किए जाने की मांग की गई।
संगठन ने बताया कि सरकार द्वारा निर्धारित और मानवीय मूल्यों के आधार पर शिक्षक पूर्ण निष्ठा और ईमानदारी से कार्य करते हैं । चुनाव, जनगणना और प्राकृतिक आपदा के कार्य शिक्षक पूरे मनोयोग से कर रहा है । लेकिन किसी दूसरे विभाग का कार्य शिक्षक पर नहीं थोंपा जाने । राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम में वंचित परिवारों का सर्वे करना व अपडेट करवाने का कार्य शिक्षकों से नहीं करवाने , यदि किसी क्वारेंटाईन सेंटर पर प्रवासी मजदूर नहीं हैं तो वहां से शिक्षकों की ड्यूटी हटाई जाने । इसके अलावा शिक्षकों को नियंत्रण कक्ष से व पिछले मार्च से लगातार कार्य कर रहे ग्राम प्रभारी, फूड प्रभारी को तत्काल कार्यमुक्त करनें व ग्राम पंचायत स्तर पर कंट्रोल टीम बनाई गई है उसी को सारे दायित्व सौंपा जाएं । शिक्षकों को नियंत्रण कक्ष, जिला कलेक्ट्रेट कार्यालय, तहसील कार्यालय ,पंचायत कार्यालय, उपखंड कार्यालयों में कार्य कर रहें शिक्षक भारी तनाव में है उन्हें तत्काल कार्य मुक्त कर किया जाए। ग्रामीण से शहरी तथा एक ब्लॉक से दूसरे ब्लॉक में शिक्षकों की ड्यूटी नहीं लगाई जाने । कुछ अधिकारी गण शिक्षकों को बेवजह परेशान कर रहे हैं, संगठन आपसे मांग करता है कि 5 जून 2020 के मुख्य सचिव महोदय के गैर शैक्षणिक कार्यों के आदेश की पालना सुनिश्चित करवाई जाने तथा कोविड-19 की इस महामारी के दौर में पूरी पारदर्शिता तथा नियमानुसार ड्यूटी लगवाई जाने । शिक्षक आपके ही सिस्टम का पार्ट है । उसकी वाजिब बात सुनी जावें । अधिकारियों की प्रभावी मोनिटरिंग की जावे । यदि ऐसा होगा तो पूरी टीम एक परिवार के रूप में इस महामारी का मुकाबला करने में मुस्तैद रहेगी । तथा नियमों के विपरीत अधिकारी गण संवादहीनता की कार्यशैली से काम करेंगे तो संगठन इसका पुरजोर विरोध करेगा । जिसकी समस्त जिम्मेदारी जिला प्रशासन की होगी ।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

रजिस्ट्रेशन होना शरू,3 जुलाई तक दे सकेंगे सुझाव , शहरीजन के सुझाव आना शुरू,जल्द ही सभापति करेंगे मुलाकात

डूंगरपुर – सभापति के.के.गुप्ता ने शहरी विकास को आबाद रखने और संवर्धन पर बेहतरीन सुझावों …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *