Breaking News
Home / राजस्थान / करौली / राजीव गांधी जलसंचय योजना के तहत मनरेगा से कार्य कराऐं करौली

राजीव गांधी जलसंचय योजना के तहत मनरेगा से कार्य कराऐं करौली

जिला कलक्टर सिद्धार्थ सिहाग ने शुक्रवार को कलक्ट्रेट सभागार में आयोजित राजीव गांधी जलसंचय योजना के तहत प्रस्तावित कार्यों की समीक्षा करते हुए अधीक्षण अभियंता को निर्देश दिए कि जो कार्य लिए गए हैं उनमें सबसे पहले मनरेगा से जलसंचय के कार्य पूर्ण किए जाएं उसके बाद विभागीय कार्य लिए जाएं।

जिला कलक्टर शुक्रवार को कलक्ट्रेट सभागार में योजना की समीक्षा बैठक को सम्बोधित करते हुए बोल रहे थे। उन्होंने पंचायत समिति वार योजना के कार्यों की समीक्षा करते हुए कहा कि समस्त विकास अधिकारी समय पर कार्यो के प्रस्ताव भिजवाने, एक ही जगह के प्रस्ताव नही भिजवाने, नरेगा के तहत कार्यो को स्वीकृत करने, समय पर मॉनिटरिंग करने, बकाया कार्यो को समय पर पूर्ण करने के निर्देश दिये। उन्होने कृषि विभाग, उद्यान, पीएचईडी, सिचाई विभाग एवं वन विभाग व पंचायती राज विभाग के अधिकारियों को आवंटित कार्यो को समय पर पूर्ण करने एवं इसकी प्रगति एक सप्ताह में सुधार करने के निर्देश भी दियें। उन्होने कहा कि पेयजल समस्या दिनांे-दिन बढती जा रही है इसको देखते हुए सभी अधिकारियों को व्यक्तिगत रूप से पूर्ण गुणवत्ता के साथ जल संग्रहण के कार्य कराएं एवं उनका नियमित रूप से निरीक्षण करें जिससे कि गांव के लोगों को भी पेयजल के साथ-साथ पशु-पक्षियों आदि को भी पेयजल मिलेगा। जलसंग्रहण से उस क्षेत्र के भूजल स्तर में भी सुधार होगा। इसलिए जलसंचय के कार्यों को प्राथमिकता के आधार पर गुणवत्ता से पूरा किया जाए और पानी के बहाव क्षेत्र को देखते हुए जलसंग्रहण किया जाए। उन्होने पूर्व मंे अधिक्षण अभियंता द्वारा गलत सूचना देने पर नाराजगी व्यक्त की एवं संबंधित विभाग को उनके खिलाफ नियमानुसार कार्यवाही करने के लिये निर्देशित किया गया।

बैठक मंे मुख्य कार्यकारी अधिकारी राजेन्द्र सिंह चारण ने कहा कि जिले में वर्तमान में राजीव गांधी जल संचय योजना के तहत प्रथम चरण में 6 ब्लॉकों में 45 ग्राम पंचायतों में 104 गांवों को चयन किया गया है एवं डीपीआर राज्य स्तर से अनुमोदित की जा चुकी है।

Check Also

ACB की बड़ी कार्रवाई-सपोटरा

सपोटरा में ACB की बड़ी कार्रवाई तहसीलदार विष्णु भारद्वाज 8000 की रिश्वत लेते रंगे ट्रेप,पेट्रोल …