Home / राजस्थान / सवाई माधोपुर / राजीव गांधी जल संचय योजना में अधिक से अधिक जन सहभागिता बढावें: कलेक्टर

राजीव गांधी जल संचय योजना में अधिक से अधिक जन सहभागिता बढावें: कलेक्टर

राजीव गांधी जल संचय योजना में अधिक से अधिक जन सहभागिता बढावें: कलेक्टर

सवाई माधोपुर 7 अक्टूबर। राजीव गांधी जल संचय योजना राज्य सरकार की फ्लेगषिप एवं वर्षा जल संरक्षण, संचयन एवं उपलब्ध जल का अधिकतम उपयोग किए जाने के संबंध में महत्वपूर्ण योजना है। इस योजना को जन आंदोलन बनाते हुए अधिक से अधिक लोगों की सहभागिता बढाकर मिषन मोड में कार्य किया जाए। ये बात जिला कलेक्टर डाॅ.एस.पी.सिंह ने राजीव गांधी जल संचय योजना के संबंध में कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित तैयारी समीक्षा बैठक में उपस्थित सभी उपखंड अधिकारी, विकास अधिकारी एवं लाइन डिपार्टमेंट के अधिकारियों से कही।

जिला कलेक्टर डाॅ. सिंह ने अधिकारियों से कहा कि लाइन विभागों से प्राप्त जल संचयन, जल संरक्षण एवं उपलब्ध जल का अधिकतम उपयोग करने के लिए विभागवार प्रस्ताव जिनका अनुमोदन ग्राम सभाओं में किया गया उन्हें राज्य सरकार को स्वीकृति के लिए भेजा जाएगा। इसी के अनुसार कार्य किए जाएंगे। जिले में राजीव गांधी जल संचय योजना के लिए 27 ग्राम पंचायतों के 64 गांवों का चयन किया गया है। योजना के तहत कार्याे के संपादन के लिए विभागीय मद, महात्मा गांधी नरेगा, केन्द्र, राज्य प्रवर्तित योजनाओं के माध्यम से कार्य करवाएं जाएंगे। सामुदायिक एवं निजी कृषकों के लिए स्वीकृत कार्य महात्मा गांधी नरेगा के तहत अनुमत है उन्हें प्राथमिकता के आधार पर नरेगा से कंवर्जेन्स कर संपादित किए जाएं। बैठक में जिला कलेक्टर ने राजीव गांधी जल संचय योजना के तहत चारागाह विकास, प्लांटेषन, कृषि विकास योजना, पुराने कुओं, नदी नालों, नहरों, की मरम्मत एवं जीर्णाेद्धार, वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम, हैंडपंप के पास सोख्ता गड्ढा, पेयजल स्रोतों के सुदृढिकरण से संबंधित कार्य अधिकता से करवाने के निर्देष दिए। उन्होंने छोटे बांध, तालाब, एनीकट, जल पुनर्भरण तंत्र, टांके, जल कुंडों का निर्माण आदि के प्रस्ताव लेकर योजना के अनुसार कार्य करवाने के निर्देष दिए। राजीव गांधी जल संचय योजना के तहत ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज, सार्वजनिक निर्माण विभाग, कृषि, उद्योग, पीएचईडी, वन एवं पर्यावरण, नगर निकाय, जल संसाधन, वाटरषेड, उद्योग, जिला परिषद सहित अन्य विभागो के द्वारा कार्य करवाएं जाएंगे।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

महात्मा ज्योति राव फूले की पुण्यतिथि मनाई

महात्मा ज्योति राव फूले की पुण्यतिथि मनाई है  गंगापुर सिटी  सूरसागर गंगापुर सिटी स्थित माली …

One comment

  1. 1.राजीव गांधी जल संचय योजना के तहत खेत मे कुंड बनाने के लिए कृषक को इस योजना में कितना अंश दान जमा करवाना पड़ता है
    2. राजीव गांधी जल संचय योजना के तहत घर पर कितना अंश दान जमा करवाना पड़ता हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *