Breaking News
Home / राजस्थान / भीलवाड़ा / रायला के एसकेएम स्कूल में पौधरोपण कार्यक्रम संपन्न-भीलवाड़ा

रायला के एसकेएम स्कूल में पौधरोपण कार्यक्रम संपन्न-भीलवाड़ा

रायला के एसकेएम स्कूल में पौधरोपण कार्यक्रम संपन्न

जल, जंगल और जमीन तीन तत्वों के बिना प्रकृति अधूरी- चोधरी 

शाहपुरा -(मूलचन्द पेसवानी)

आयुर्वेद व औषधीय पौधों के माध्यम से रोगों का उपचार करने वाले श्री नवग्रह आश्रम के प्रकल्प सगडोलिया कनीराम मेमोरियल स्कूल (एसकेएम स्कूल) रायला परिसर में बुधवार को समारोह पूर्वक पौधरोपण कार्यक्रम किया गया। 

इस मौके पर स्कूल परिसर में दो दर्जन से अधिक पौधे रोपित कर पौधरोपण कार्यक्रम का आगाज किया गया। कार्यक्रम में सहायक आयुक्त मनफूल चोधरी ने कहा कि पौधरोपण के माध्यम से ही प्रकृति से जुड़ा जा सकता है। उन्होंने सभी को विश्व प्रकृति पर्यावरण दिवस के मौके पर सभी को बधाई देते हुए कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को प्रकृति के साथ अपने संबंध बनाये रखने होगें तभी हम अपना जीवन सफल बना सकते है। 

आश्रम के संस्थापक अध्यक्ष हंसराज चोधरी ने कहा कि वर्तमान परिपेक्ष्य में कई प्रजाति के जीव जंतु एवं वनस्पति विलुप्त हो रहे हैं। विलुप्त होते जीव जंतु और वनस्पति की रक्षा का विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस पर संकल्प लेना ही इसका उद्देश्य है। जल, जंगल और जमीन, इन तीन तत्वों के बिना प्रकृति अधूरी है। विश्व में सबसे समृद्ध देश वही हुए हैं, जहाँ यह तीनों तत्व प्रचुर मात्रा में हों. भारत देश जंगल, वन्य जीवों के लिए प्रसिद्ध है। चोधरी ने कहा कि पर्यावरण शब्द परि$आवरण के संयोग से बना है। ‘परि’ का आशय चारों ओर तथा ‘आवरण’ का आशय का परिवेश है। दूसरे शब्दों में कहें तो पर्यावरण अर्थात वनस्पतियों ,प्राणियों,और मानव जाति सहित सभी सजीवों और उनके साथ संबंधित भौतिक परिसर को पर्यावरण कहतें हैं वास्तव में पर्यावरण में वायु, जल, भूमि, पेड़-पौधे, जीव-जन्तु,मानव और उसकी विविध गतिविधियों के परिणाम आदि सभी का समावेश होता हैं।

इस मौके पर आश्रम के संस्थापक अध्यक्ष हंसराज चोधरी, सहायक आयुक्त मनफूल चोधरी, आश्रम निदेशक हरफूल चोधरी, पूर्व सीएमएचओ डा. आरसी सामरिया, राउमावि रायला के प्रधानाचार्य गग्गड़, राउमावि ईरांस के प्रधानाचार्य ओमप्रकाश आमेटा, मिडिल स्कूल रायला के प्रधानाध्यापक गिरधर सिंह, सनोदिया मिडिल स्कूल के प्रधानाध्यापक शिवपाल पूनिया, सरपंच जेपी जाट, भगवतीलाल टाक, नर्बेदश्वर टांक, सुभ्रत रायला सहित कई प्रबुद्व जन मौजूद रहे।

Check Also

हाइवे पर गौवंश की सहायता व उपचार के लिए 50 मेडिकल किट का वितरण

हाइवे पर गौवंश की सहायता व उपचार के लिए 50 मेडिकल किट का वितरण शाहपुरा …