Home / राजस्थान / भीलवाड़ा / राष्ट्रीय कवि संगम की प्रदेश के सभी जिलों में इकाइयाँ गठित-भीलवाड़ा

राष्ट्रीय कवि संगम की प्रदेश के सभी जिलों में इकाइयाँ गठित-भीलवाड़ा

राष्ट्रीय कवि संगम की प्रदेश के सभी जिलों में इकाइयाँ गठित

उदयपुर में सिद्धार्थ देवल और भीलवाड़ा कवि नरेन्द्र दाधीच को पुनः कमान

शाहपुरा -(मूलचन्द पेसवानी)

देश में कवियों के सबसे वृहत्ताकार संगठन राष्ट्रीय कवि संगम द्वारा दिनकर जयंती पर आयोज्य राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर कवितापाठ प्रतियोगिता-2020 के मद्देनजर संगठन के प्रदेश महामंत्री किशोर पारीक ने प्रदेशाध्यक्ष एवं विधायक जोगेश्वर गर्ग की अनुमति से राजस्थान के सभी 33 जिलों में जिलाध्यक्ष का मनोनयन कर दिया है। 

संस्था के क्षेत्र प्रमुख कवि योगेंद्र शर्मा ने बताया कि संगठन की स्थापना के तेरह वर्ष बाद यह प्रथम अवसर है, जब राजस्थान की सभी जिला इकाइयों का गठन करके केंद्र को रिपोर्ट भेजी गई है। प्रदेश महामंत्री किशोर पारीक ने सभी जिलों के जिलाध्यक्षों को शीघ्र अपनी नई कार्यकारिणी बनाकर प्रस्तावित करने का निर्देश भी जारी किया है।

नव मनोनीत जिला अध्यक्षों में अजमेर से ललित कुमार शर्मा, हनुमानगढ़ से डॉ शिवराज पारीक, प्रतापगढ़ से चांदमल चंद्रेश, जैसलमेर से विजय बल्लाणी, सवाई माधोपुर से आशीष मित्तल, टोंक से दिनेश दिवाकर, धोलपुर से गोविंद शर्मा, चित्तौड़गढ़ से नवीन सारथी, चुरू से एडवोकेट ओम प्रकाश वर्मा डायनामाइट, झुंझुनू से राजकुमार सिंह राज, श्रीगंगानगर से रामनिवास गुणग्राहक, नागौर से प्रीतम जोशी, जोधपुर से आकाश नौरंगी, बाड़मेर से गौतम संकलेचा, पाली मारवाड़ से कृष्णकांत सिंघल, उदयपुर से कवि सिद्धार्थ देवल, करौली से रमा मीणा, बूँदी से कवि पीयूष पाचक, दौसा से डॉ मुकेश गुप्त श्राजश्, और सीकर जिले से कवि विष्णु पारीक का मनोनयन किया गया है। राजसमंद जिलाध्यक्ष श्याम देवपुरा की अनुशंसा पर ऊर्जावान कवि गौरव पालीवाल को राजसमंद जिले का उपाध्यक्ष मनोनीत किया गया है।

राजस्थान और गुजरात के क्षेत्र प्रमुख कवि योगेंद्र शर्मा ने बताया कि राष्ट्रीय कवि संगम की स्थापना और प्रथम राष्ट्रीय अधिवेशन 2007 में हुआ था। उसके पश्चात यह पहला मौका है, जब राजस्थान के सभी जिलों में जिला इकाइयों का गठन किया गया है। उन्होंने कहा कि गुजरात प्रांत में अभी 6 इकाइयों का गठन हुआ है लेकिन शीघ्र ही सभी जिला इकाइयों का गठन कर लिया जाएगा।

योगेन्द्र शर्मा ने बताया कि नई पीढ़ी में कविता के संस्कारों का संचार करने के लिए 18 वर्ष तक के बच्चों द्वारा दिनकर की कविताओं का काव्य पाठ करने को लेकर पूरे प्रदेश में उत्साह का वातावरण बना हुआ है। दो वर्गों में विभक्त इस प्रतियोगिता में श्रेष्ठ चयनित प्रथम द्वितीय व तृतीय प्रतिभागियों को राष्ट्रीय स्तर पर पारितोषिक प्रदान किए जाने की भी योजना है।

ज्ञातव्य है कि राष्ट्रीय कवि संगम के इस अखिल भारतीय कार्यक्रम में दिनकर जी की किसी भी कविता को याद करके 2-3 मिनट का वीडियो बनाकर कोई भी 18 वर्ष तक आयु का बच्चा इस प्रतियोगिता में भाग ले सकता है। वीडियो लिंक प्रेषित करने की अंतिम तिथि 31 अगस्त निर्धारित की गई है। उम्मीद है कि देशभर से हजारों की संख्या में युवा पीढ़ी के उत्साही प्रस्तोता इस प्रतियोगिता में भाग लेंगे।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, सौंपे सीएम सहायता राशि के चेक

चित्तौड़गढ़-कोटा राष्ट्रीय राजमार्ग दुर्घटना भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *