Home / राजस्थान / भीलवाड़ा / राष्ट्रीय चेतना के अग्रदूत थे स्वामी दयानंद सरस्वती – आर्य-भीलवाड़ा

राष्ट्रीय चेतना के अग्रदूत थे स्वामी दयानंद सरस्वती – आर्य-भीलवाड़ा

राष्ट्रीय चेतना के अग्रदूत थे स्वामी दयानंद सरस्वती – आर्य

शाहपुरा- मूलचन्द पेसवानी

स्वामी दयानंद सरस्वती जिन्होंने विश्व संस्कृति को बचाने के लिए उद्घोष दिया ‘वेदो की ओर लौटो’ । वेद सत्य है और वेदों के अनुरूप जीवन जीने वाला व्यक्ति परम सत्ता को प्राप्त कर सकता है । भारत की संस्कृति आर्य संस्कृति है और पूरे विश्व को आर्य बनाना है । कृण्वंतो विश्वमार्यम् का उद्घोष पूरे विश्व में गुंजायमान हो ऐसा प्रत्येक भारतवासी का चिंतन है । यह बात राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय शंभूपुरा में आयोजित महर्षि दयानंद सरस्वती जयंती के अवसर पर बोलते हुए आर्य समाज के पूर्व प्रधान कन्हैयालाल आर्य ने कही। आर्य ने कहा कि स्वामी दयानंद सरस्वती राष्ट्रीय चेतना के अग्रदूत थे । प्रत्येक देशभक्त विद्यार्थी को उनसे प्रेरणा लेनी चाहिए । स्थानीय विद्यालय के प्रधानाध्यापक परमेश्वर प्रसाद कुमावत ने बताया कि महर्षि दयानंद सरस्वती जयंती के उत्सव पर विद्यालय में यज्ञ का कार्यक्रम भी रखा गया जिसमें विद्यालय के भैया बहनों एवं ग्राम वासियों ने आहुतियां दी। मुख्य कार्यक्रम में मुख्य अतिथि तहनाल ग्राम पंचायत सरपंच गोविंद कंवर राणावत थी । इस अवसर पर राणावत ने महर्षि दयानंद सरस्वती द्वारा किए गए महान कार्यों पर प्रकाश डाला । कार्यक्रम की अध्यक्षता तहनाल पंचायत प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी श्रीमती उषा कच्छावा ने की । इस अवसर पर कच्छावा ने कहा कि महर्षि दयानंद सरस्वती का भारतीय समाज पर महत्वपूर्ण योगदान रहा है उन्होंने कहा कि भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में महर्षि दयानंद सरस्वती के विचारों ने लोगों में स्वतंत्रता की अग्नि को प्रज्वलित करने का काम किया । कार्यक्रम में विद्यालय के भैया बहनों द्वारा कविता, भाषण एवं नृत्य की रंगारंग प्रस्तुतियां दी गयी । कार्यक्रम में आर्य समाज के संतोष सिंह चौधरी, बालमुकुंद बघेरवाल ने भजन के माध्यम से महर्षि दयानंद सरस्वती के जीवन पर प्रकाश डाला । कार्यक्रम में तहनाल पंचायत प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी क्षेत्र के छगन लाल खटीक रूपपुरा, निर्मला व्यास रूपपुरा, हंसराज रेगर नया तालाब, कल्याण कुमावत गोपालपुरा, मुकेश कुमावत बालिका तहनाल, इस्माइल का कायमखानी गुर्जरों का खेड़ा, गुर्जर मल गुर्जर सूरजपुरा, देवराज गुर्जर समेलिया के प्रधानाध्यापक भी उपस्थित थे । कार्यक्रम में आर्य समाज के कान सिंह चौहान, रूप सिंह, दयाराम शर्मा, गोपाल राजगुरु ने यज्ञ कार्य संपन्न करवाया । एसएमसी अध्यक्ष देवीलाल कुमावत ने अतिथियों का स्वागत किया । विद्यालय परिवार के अध्यापक विरेंद्र सिंह, सीताराम चौधरी, भगवान लाल गोस्वामी, शारीरिक शिक्षक पवन कुमार छिपा ने कार्यक्रम की व्यवस्था को नई ऊंचाई प्रदान की । कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापन संस्था प्रधान परमेश्वर प्रसाद कुमावत ने किया । कार्यक्रम में जगदीश प्रसाद शर्मा, हनुमान कुमावत, नंदकिशोर शर्मा, चौथमल कुमावत आदि उपस्थित थे ।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, सौंपे सीएम सहायता राशि के चेक

चित्तौड़गढ़-कोटा राष्ट्रीय राजमार्ग दुर्घटना भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *