Breaking News
Home / देश / रेलवे बोर्ड ने किया 12 अगस्त तक सभी रेग्लुयर ट्रेन को न चलाने का फैसला

रेलवे बोर्ड ने किया 12 अगस्त तक सभी रेग्लुयर ट्रेन को न चलाने का फैसला

12 अगस्त तक नहीं चलेंगी रेग्युलर ट्रेनें, मिलेगा 100% रिफंड

Train service suspended till 12 august: रेलवे बोर्ड ने 12 अगस्त तक सभी रेग्लुयर ट्रेन को नहीं चलाने का फैसला किया है। जारी बयान में कहा गया कि इस दौरान स्पेशल ट्रेनें चलती रहेंगी साथ ही यात्रियों को फुल रिफंड मिलेगा।

कोरोना (coronavirus india updates) के लगातार बढ़ रहे मामलों के बीच रेलवे बोर्ड ने आज फैसला किया कि 12 अगस्त तक मेल, एक्सप्रेस, पैसेंजर ट्रेन, लोकल ट्रेन और EMU ट्रेनें नहीं चलाई जाएंगी। इसके अलावा अगर किसी की 12 अगस्त तक रेग्युलर ट्रेन में बुकिंग है तो उसे 100 पर्सेंट रिफंड मिलेगा।

चलती रहेंगी स्पेशल ट्रेनें

इससे पहले 13 मई के अपने आदेश में रेलवे बोर्ड ने कहा था कि 30 जून तक रेग्लुलर ट्रेन की बुकिंग कैंसल की जा रही है और इसमें यात्रियों को पूरा रिफंड मिलेगा। अब जबकि ट्रेन कैंसिलेशन की तारीख बढ़ा दी गई है, तो रिफंड की सुविधा भी 12 अगस्त तक कर दी गई है। इस दौरान 12 मई से चालू स्पेशल राजधानी ट्रेन और 1 जून से चालू स्पेशल मेल/एक्सप्रेस ट्रेनें पहले की तरह चलती रहेंगी।

अभी 30 जून तक रेल सेवा बंद थी

इससे पहले रेलवे मिनिस्ट्री ने सोमवार को एक सर्कुलर जारी करते हुए सभी जोन को सूचित किया था कि 14 अप्रैल या उससे पहले बुक किए गए सभी टिकटों का रिफंड कर दिया जाए। अभी तक रेलवे ने 30 जून तक ही रेल सेवाओं को बंद करने की घोषणा की थी। ताजा सर्कुलर में इसे 12 अगस्त तक कर दिया गया है।

क्या 15 अगस्त के बाद चल सकती हैं ट्रेनें?

रेलवे के नियमों के अनुसार अधिकतर 120 दिन पहले किसी ट्रेन का टिकट बुक कराया जा सकता है। अब जब रेलवे ने 14 अप्रैल और उससे पहले के सभी टिकटों का रिफंड करने को कहा है, यानी करीब 15 अगस्त से पहले तक की बुक सभी टिकटों के पैसे रिफंड हो जाएंगे। तो क्या रेलवे की ओर से ट्रेनें 15 अगस्त के बाद चलाई जाएंगी?

अभी और चलाई जा सकती हैं स्पेशल ट्रेनें

सूत्रों की मानें तो रेलवे की तरफ से अभी मांग को पूरा करने के लिए जो अतिरिक्त ट्रेनें चलाई जाएंगी, उन्हें भी स्पेशल ट्रेनों की कैटेगरी में रखा जाएगा। बता दें की अभी करीब 230 मेल और एक्सप्रेस ट्रेनें चल रही हैं, नई ट्रेनें भी इन्हीं के जैसी होंगी।

Check Also

पत्रकार के समस्यायों के निस्तारण के लिए आज एक साथ भारत के प्रमुख ट्रेड यूनियन

देश की तीनों प्रमुख संगठन पत्रकारों की उठाएगी आवाज़, बीएमएस ने दिया समर्थन लखनऊ :- …