Home / देश / वाटर प्यूरीफायर में छिपाकर ला रहे थे 8 करोड़ का सोना, गिरफ्तार |

वाटर प्यूरीफायर में छिपाकर ला रहे थे 8 करोड़ का सोना, गिरफ्तार |

 वाटर प्यूरीफायर में छिपाकर ला  रहे थे 8 करोड़ का सोना, गिरफ्तार |

राजस्व खुफिया निदेशालय ने चीन, ताइवान और एक भारत के तस्कर को गिरफ्तार कर 21 किलो सोना बरामद किया है जिसकी कीमत करीब 7.62 करोड़ रुपए है। यह कीमती धातु ताइवान और हांगकांग से तस्करी कर भारत लाया गया था और यहां दिल्ली के करोलबाग में एक ज्वैलर को बेचा गया था। सोना घर में इस्तेमाल होने वाली चीजें और वाटर प्यूरीफायर (पानी का शुधिकरण यंत्र) में छिपाकर लाया गया था।

डीआरआई को जानकारी मिली कि कुछ लोग सोने की तस्करी में शामिल हैं और दिल्ली के ज्वैलर्स को बेचने के लिये सोना भारत ला रहे हैं। इसी जानकारी के आधार पर डीआरआई की टीम ने दीवाली से पहले 21 अक्टूबर को दिल्ली के पॉश इलाके में बने एक फ्लैट में छापेमारी कर एक ताइवानी नागरिक और एक भारतीय को गिरफ्तार किया।

दोनों की गिरफ्तारी से पता लगा कि सोना तस्करी के इस गिरोह का मुखिया एक चीनी नागरिक है, और वहीं भारत में सोना तस्करी के इस गैंग को चला रहा है। उसी के बाद जाल बिछा कर उसे भारत आने पर मजबूर किया गया और 4 नवंबर को दिल्ली एयरपोर्ट से उसे गिरफ्तार किया गया।

जांच में पता चला कि भारत में सोना तस्करी में दो गिरोह काम कर रहे हैं। एक गिरोह चीन का नागरिक चला रहा है और दूसरा गिरोह ताइवान का नागरिक. जांच में पता चला कि ताइवान के तस्कर गिरोह ने कुरियर के जरिये वाटर प्यूरीफायर में सोना छिपा कर भारत भेजा था जिसे भारत में गिरोह के लिये काम कर रहे तस्करों ने निकाला और फिर दिल्ली के करोल बाग के ज्वैलर को बेच दिया।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

25 नवंबर से बिना कोरोना रिपोर्ट के एंट्री नहीं

25 नवंबर से बिना कोरोना रिपोर्ट के एंट्री नहीं  महाराष्ट्र महाराष्ट्र जाने के लिए RT-PCR …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *