Home / उत्तर प्रदेश / विकास कार्यो में शिथिलता क्षम्य नहीं- जिलाधिकारी-उत्तर प्रदेश

विकास कार्यो में शिथिलता क्षम्य नहीं- जिलाधिकारी-उत्तर प्रदेश

विकास कार्यो में शिथिलता क्षम्य नहीं- जिलाधिकारी

बैठक से नदारद होने के कारण सिंचाई नहर विभाग के अधिशासी अभियन्ता से जवाब-तलब।

श्रावस्ती 11 फरवरी, 2020/सू0वि0/जनपद के विभिन्न विभागों एवं कार्यदायी संस्थाओं द्वारा जो भी विकास परख निर्माण कराये जा रहे हैं उन्हे पूरे गुणवत्ता के साथ समय से पूरी किये जाये। यदि औचक निरीक्षणों में किसी भी निर्माणाधीन कार्यों में गुणवत्ता की कमी मिली तो निश्चित ही सम्बन्धित कार्यदायी संस्था के साथ-साथ विभाग के जिला स्तरीय अधिकारियों को जिम्मेदार मानते हुए उनके ऊपर कड़ी कार्यवायी सुनिश्चित होगी।

              उक्त निर्देश कलेक्ट्रेट सभागार में विकास कार्यों की गहन समीक्षा बैठक के दौरान जिलाधिकारी सुश्री यशु रूस्तगी ने दिया है। नहरों की सिल्ट सफाई समीक्षा के दौरान ज्ञात हुआ कि सिंचाई एवं नहर विभाग के अधिशासी अभियन्ता या उनके कोई प्रतिनिधि बैठक में आये ही नहीं है, जिससे समीक्षा नही की जा सकी। इससे नाराज होकर जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अभियन्ता से इस लापरवाही के लिए जवाब-तलब किया है। जिलाधिकारी ने बताया की प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के अन्तर्गत जनपद-श्रावस्ती के जिन लाभार्थियों के आवास स्वीकृत हुए है और उनके द्वारा प्रथम और द्वितीय किश्त प्राप्त करते हुए आवास निर्माण का समस्त कार्य पूर्ण करा लिया गया है परन्तु तीसरी किश्त नही प्राप्त हुई है। ऐसे लाभार्थियों को सूचित किया जाता है कि तृतीय किश्त प्राप्त किये जाने हेतु कार्यालय उपजिलाधिकारी भिनगा एवं कार्यालय जिला नगरीय विकास अभिकरण डूडा को अवगत कराये, जिससे उन्हें तृतीय किश्त दी जा सके।

              जिलाधिकारी ने यह भी बताया कि जिन किसान भाइयों का आयुष्मान भारत योजना के तहत चयन किया गया है उन्हें अभी तक गोल्डन कार्ड नही मिल पाया है। वे जिला कृषि अधिकारी कार्यालय में अपना आधार कार्ड लेकर जाये और गोल्डन कार्ड बनवाने की कार्यवाही पूरा कराये ताकि उन्हें गोल्डन कार्ड मुहैया कराया जा सकें। ज्ञातव्य हो कि जिले में 72144 आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत लाभार्थी परिवारों का चिन्हित किया गया था, किन्तु अभी तक 55411 लाभार्थियों को ही गोल्डन कार्ड मुहैया कराया गया है। इस प्रकरण को गम्भीरता से लेते हुए जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिया है कि कैम्प का आयोजन कर तथा जिला पूर्ति अधिकारी से समन्वय बनाकर शीघ्र लाभार्थियों को गोल्डन कार्ड मुहैया करायें।

             

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि सरकार की यह महत्वाकांक्षी योजना है इसलिए समय से लाभार्थियों को समय से किस्ते दी जांए ताकि उनके आशियाने का निर्माण समय से हो सके। प्रधानमंत्री शहरी आवास की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि जिन लाभार्थियों का चयन हुआ है उन आवासों को तेजी से पूरा कराने का कार्य किया जाए और यह भी ध्यान रखा जाए कि कोई भी पात्र व्यक्ति इस योजना से अछूता न रह जाए। तदोपरान्त जिलाधिकारी ने मुख्यमंत्री आवास योजना की भी समीक्षा की तथा इसमें भी तेजी लाने का निर्देश दिया है। राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन योजना जो गावों में निवास करने वाली महिलाओं के लिए वरदान है इसका और बेहतर ढंग से संचालन कराया जाए और जो अब तक समूह बनाये गए हैं उनका सी0सी0एल0 कराने का विशेष ध्यान दिया जाए ताकि गांव के गरीब भी आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बन सके। कृषि विभाग की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने जिला कृषि अधिकारी को निर्देश दिया है कि सभी सरकारी एवं गैर सरकारी खाद-बीज की दुकानों पर किसानों की आवश्यकतानुसार खाद-बीज की उपलब्धता हरहाल में सुनिश्चित रखा जाए जिससे किसानों को इधर उधर भटकना न पड़े। धान क्रय केन्द्र की समीक्षा के दौरान शिथिल गति पाये जाने पर जिलाधिकारी ने जिला खाद्य विपणन अधिकारी को तेजी लाने का निर्देश दिया है। जिलाधिकारी ने जोर देते हुए कहा कि अब किसी भी विभागीय अधिकारी की आनाकानी नही चलेगी अब उन्हे हर हाल में कागज पर नही धरातल पर जाकर विकास कार्य कराने होगें नही तो निश्चित ही वे दण्डित होगें। जिन विभागों के निर्माणाधीन विकास कार्य फील्ड में हो रहे हैं तो उन अधिकारियों का दायित्व है कि वे फरियादियों की जन समस्याओं को सुनने के बाद फील्ड में जाए और उन कार्यों को समय से पूरा करावें जिससे समाज का लाभ हो सके।

               बैठक में बार्डर एरिया, जल निगम, माध्यमिक शिक्षा, स्वास्थ्य, कल्याण विभाग, बाल विकास एवं पुष्टाहार, निर्माण विभाग, सहकारितां ,वन तथा पशुपालन विभाग से सम्बन्धित कार्यों की गहन समीक्षा की गई तथा ढंग से कार्य करके सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों को लक्ष्य पूरा करने हेतु निर्देश दिया गया।

           इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अवनीश राय, उप जिलाधिकारी प्रवेन्द्र कुमार उप जिलाधिकारी आर0पी0 चैधरी, प्रभागीय वनाधिकारी ए0पी0 यादव, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 ए0पी0भार्गव, जिला विकास अधिकारी विनय कुमार तिवारी, डी0सी0 मनरेगा, डी0सी0 एन0आर0एल0एम0,परियोजना निदेशक बी0जी0शुक्ला, जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी मोहन त्रिपाठी, जिला पंचायतराज अधिकारी आशीष श्रीवास्तव, मुख्य चिकित्साधीक्षक, वित्त एंव लेखाधिकारी माध्यमिक हसीब असगर सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थिति रहे

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

नाबालिग ने सोशल मीडिया पर योगी आदित्यनाथ की आपत्तिजनक तस्वीर की पोस्ट, मामला दर्ज

बलिया, 14 अक्टूबर । सोशल मीडिया पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की आपत्तिजनक तस्वीर डालने एवं …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *