Breaking News
Home / राजस्थान / राजसमंद / विपक्ष समस्या नहीं समाधान का हिस्सा बने – सांसद दीयाकुमारी

विपक्ष समस्या नहीं समाधान का हिस्सा बने – सांसद दीयाकुमारी

राजसमन्द संसद में सांसद दीयाकुमारी ने कहा कि संसद में प्रश्नकाल की व्यवस्था पर सवाल करने वाला विपक्ष यह भी जान ले कि यह पहली बार नहीं हुआ है। 1962, 1975, 1976, 1976, 2004 और 2009 में कई कारणों से किया गया था। सही मायने में आपातकाल के चरित्र चित्रण को कांग्रेस से बेहतर कौन जान सकता है। कांग्रेस के 1975 और 1976 के आपातकाल को दुनिया ने देखा है जब लोकतंत्र को कांग्रेस ने कालकोठरी में बंद कर दिया था। वस्तुत वो ही राजनीतिक आपातकाल था, जिसमें कांग्रेस ने लोकतंत्र की जड़ों में तेजाब उड़ेला था। 

तब आपातकाल केवल विपक्ष और मीडिया के लिए ही था। परिवहन, स्कूल, कॉलेज, मनोरंजन सहित सब कुछ सामान्य था।

सांसद और प्रदेश महामंत्री दीयाकुमारी ने कहा कि विपक्ष यह क्यों भूल रहा है कि पिछले दिनों ही बुलाये गए राजस्थान विधानसभा के सत्र में सत्ताधारी दल ने क्या किया था। केरल, पंजाब, महाराष्ट्र, राजस्थान सहित देश की अनेक विधानसभाओं में क्या स्थिति है। राजस्थान में तो विधानसभा केवल 4 दिन ही चली है।

संसद के मानसून सत्र में प्रश्नकाल को लेकर कुछ विपक्षी दलों द्वारा दुष्प्रचार किया जा रहा है। प्रश्नकाल को लेकर इस समय जो व्यवस्था की जा रही है वह पहली बार नहीं है। देश में असाधारण परिस्थितियों के चलते सरकार ने अनेक विपक्षी दलों की सहमति से यह निर्णय लिया है। 

सांसद दीयाकुमारी ने कहा कि देश की संसद आम जनता और चिंता के विभिन्न महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा करने जा रही है। जिसमें महामारी कोवीड-19, अर्थव्यवस्था, राज्य की स्थिति और विकास कार्य पर लघु अवधि चर्चा, कॉलिंग अटेंशन नोटिस आदि होने हैं।

आहूत होने वाले संसद सत्र की मंशा पर बेबुनियाद आरोप लगाना निंदनीय है। विपक्ष समस्या नहीं समाधान का हिस्सा बने इसी में राष्ट्र की भलाई है।

Check Also

डीएमयू ट्रेन के 3 नए कोच दौड़ेंगे मेडता से मेडता रोड़ के बीच में  राजसमन्द

राजसमन्द । राजसमन्द संसदीय क्षेत्र की मेडता विधानसभा के लिए एक सुखद खबर यह है …