Home / टेक्नोलॉजी / व्हाट्सएप और ई-मेल के जरिए भेज सकेंगे दिल की धड़कन |

व्हाट्सएप और ई-मेल के जरिए भेज सकेंगे दिल की धड़कन |

व्हाट्सएप और ई-मेल के जरिए भेज सकेंगे दिल की धड़कन |

आईआईटी बॉम्बे के छात्रों ने एक खास तरह का स्टेथोस्कोप बनाया है, जिसके जरिए लोग अपनी दिल की धड़कन को ई-मेल के जरिए किसी को भी भेज सकेंगे। यूजर्स को इस डिवाइस में इंटरनेट और ब्लूटूथ का सपोर्ट मिलेगा। साथ ही इस डिवाइस के यूजर्स हृदय की धड़कन को रिकॉर्ड कर ई-मेल या व्हाट्सएप के माध्यम से डॉक्टर तक पहुंचा पाएंगे।

वहीं, इस स्मार्ट स्टेथोस्कोप को आयु सिंक का नाम दिया है। इस स्टेथोस्कोप को खास तौर पर ग्रामीण इलाकों के लिए तैयार किया गया है। यहां नर्स या डॉक्टर मरीज की रिपोर्ट विशेषज्ञ को भेजकर इलाज के लिए सलाह ले सकेंगे। डॉक्टर्स ग्रामीण क्षेत्रों में इस स्टेथोस्कोप के जरिए मरीजों की बीमारी और बच्चों के दिल में छेद का पता लगा सकेंगे। विशेषज्ञों का मानना है कि इस डिवाइस से गांव में रहने वाले लोगों का बेहतर तरीके से इलाज होगा।

वहीं, यह डिवाइस आम स्टेथोस्कोप के मुकाबले 35 गुना बेहतर है। आयु सिंक को खास एप आयु शेयर से इस्तेमाल किया जाएगा। इसका निर्माण करने वाले टीम के सदस्य तपस पांडे ने कहा है कि आयु शेयर एप से लोगों की धड़कन को रिकॉर्ड किया जाता हैं।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

25 नवंबर से बिना कोरोना रिपोर्ट के एंट्री नहीं

25 नवंबर से बिना कोरोना रिपोर्ट के एंट्री नहीं  महाराष्ट्र महाराष्ट्र जाने के लिए RT-PCR …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *