Home / राजस्थान / शरीर का सदुपयोग नहीं किया तो मनुष्य जन्म व्यर्थ-सवाई माधोपुर
शरीर का सदुपयोग नहीं किया तो मनुष्य जन्म व्यर्थ-सवाई माधोपुर
शरीर का सदुपयोग नहीं किया तो मनुष्य जन्म व्यर्थ-सवाई माधोपुर

शरीर का सदुपयोग नहीं किया तो मनुष्य जन्म व्यर्थ-सवाई माधोपुर

शरीर का सदुपयोग नहीं किया तो मनुष्य जन्म व्यर्थ

सवाई माधोपुर 7 मार्च। दिगम्बर जैन अतिषय क्षेत्र चमत्कारजी, अहिंसा सर्किल, आलनपुर में विराजित मुनि समर्पण सागरजी ने धर्म चर्चा के दौरान कहा कि यदि मानव शरीर का सदुपयोग नहीं करोगे तो मनुष्य जन्म व्यर्थ हो जायेगा।

सकल दिगम्बर जैन समाज के प्रवक्ता प्रवीण जैन ने बताया कि मुनि समर्पण सागर जी ने कहा कि मन का उपयोग आत्मा का चिन्तन करने, तन का उपयोग संयम धारण करने, वचन का उपयोग हित-मित-प्रिय बोलने, कान का उपयोग संतो की वाणी सुनने, मुख का उपयोग मधुर बोलने, आँखों का उपयोग अच्छे दृष्य देखने, हाथ का उपयोग दान देने एवं पैर का उपयोग तीर्थ यात्रा करने में करना चाहिये। तब ही मनुष्य जन्म सार्थक होगा।

धर्म चर्चा के उपरान्त विषुद्ध वर्धनी महिला मंडल की अध्यक्ष अनीता गोधा, महिला महासमिति की महामंत्री मनीषा बाकलीवाल एवं पुजारी राजेष श्रीमाल के संयोजन में मुनिश्री की निरन्तराय आहारचर्या सम्पन्न हुई।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

औषधालय में दवाओं की कमी, मरीजों का औषधालय से मोह भंग

औषधालय में दवाओं की कमी, मरीजों का औषधालय से मोह भंग राजकीय आयुर्वेद औषधालय …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *