Breaking News
Home / राजस्थान / भीलवाड़ा / शिक्षक के बिना राष्ट्र की कल्पना अधूरी है- लादूलाल तेली-भीलवाडा

शिक्षक के बिना राष्ट्र की कल्पना अधूरी है- लादूलाल तेली-भीलवाडा

भीमनगर में वाकपीठ का समापन

शिक्षक के बिना राष्ट्र की कल्पना अधूरी है- लादूलाल तेली

शाहपुरा- मूलचन्द पेसवानी

’शिक्षा में शाहपुरा को नंबर वन बनाने का लिया संकल्प’। शिक्षक ही बालकों में राष्ट्रभक्ति और चरित्र निर्माण कर सकता है । शिक्षक श्रेष्ठ राष्ट्र का निर्माण करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। शिक्षक के बिना राष्ट्र की कल्पना अधूरी है। निर्माणों के पावन युग में चरित्र निर्माण न भूले ऐसी भावना प्रत्येक शिक्षक के मन में होनी चाहिए ।

यह बात प्राथमिक उच्च प्राथमिक विद्यालयी संस्था प्रधान वाक् पीठ के समापन कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि बोलते हुए भारतीय जनता पार्टी जिला अध्यक्ष लादू लाल तेली ने कहीं । तेली ने कहा कि समाज निर्माण से ही राष्ट्र निर्माण संभव है और शिक्षकों की वर्तमान परिपेक्ष्य में अधिक जिम्मेदारी बनती है । शिक्षक ही संस्कारवान पीढ़ी का निर्माण कर सकता है । एसआईईआरटी उदयपुर के उपनिदेशक तेजपाल उपाध्याय ने कहा कि वर्तमान में शिक्षा के क्षेत्र में कई नवाचारों का प्रयोग किया जा रहा है । आने वाले समय में बस्ते का बोझ कम करने के लिए भी प्रक्रिया चल रही है । शिक्षक को हमेशा सीखना चाहिए । समापन कार्यक्रम में पूर्व सरपंच गणपत लाल खटीक, पूर्व सरपंच नारायण लाल जाट, कन्हैया लाल जीनगर, एसीबीईओ द्वारका प्रसाद पारीक ने भी संबोधित किया । वाक् पीठ के दूसरे दिन हरित राजस्थान पर देवी लाल बेरवा, योग एवं प्राणायाम पर अशोक कुमार शर्मा, समावेशी शिक्षा पर सूर्यकांत प्रजापति, अवकाश नियम पर सूर्य प्रकाश शर्मा, अनुपयोगी सामग्री निस्तारण चंद्र प्रकाश शर्मा, कार्यालय पद्धति सामान्य जानकारी मोहम्मद सलीम डायर ने अपनी वार्ता प्रस्तुत की । करमडास विद्यालय में ढाई लाख का सहयोग करने वाले भामाशाह दुर्गा शंकर शर्मा का भी मंच की ओर से अभिनंदन किया गया । स्थानीय विद्यालय के संस्था प्रधान श्रीमती अरुणा हाडा का वाक् पीठ समिति के द्वारा सार्वजनिक अभिनंदन किया गया । वाक् पीठ प्रभारी इस्माइल खां कायमखानी ने बताया कि वाक् पीठ में शाहपुरा ब्लॉक के 201 विद्यालयों के संस्था प्रधानों ने भाग लिया । स्थानीय गांव के भामाशाहओं का भी मंच की ओर से सम्मान किया गया । कार्यक्रम को ऊंचाइयां प्रदान करने के लिए नवीन मेहता, शंकर मीणा, रामकिशन मीणा, सुरेश प्रजापत, सुरेश जाट, पिंटू सिंह, प्रेम प्रकाश, सुरेश प्रजापत, हनुमान सिंह, देवीलाल, भगवत सिंह आदि कार्यकर्ताओं ने सहयोग प्रदान किया । कार्यक्रम में अध्यापक दिनेश जांगिड़, भगवान लाल गोस्वामी ने भजनों के माध्यम से समा बांधी । समापन कार्यक्रम का आभार ढिकोला पंचायत प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी मुबारक अली ने किया । कार्यक्रम का मंच संचालन परमेश्वर प्रसाद कुमावत ने किया । नवगठित कार्यकारिणी की ओर से निवर्तमान कार्यकारिणी अध्यक्ष राजेंद्र डांगी, सचिव चंद्रप्रकाश शर्मा, कोषाध्यक्ष अख्तियार अली का भी अभिनंदन किया गया ।

’नई कार्यकारिणी का गठन’इस अवसर पर नई कार्यकारिणी का गठन किया गया । अध्यक्ष देवी लाल बेरवा प्रधानाध्यापक राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय कुंड शाहपुरा, उपाध्यक्ष गजराज सिंह सरदारपुरा, सचिव इंदिरा धूपिया रहड़, कोषाध्यक्ष महादेव प्रजापति धनोप, सदस्य सलीम डायर, नंदलाल सनाढ्य, अशोक शर्मा, अख्तियार अली, महावीर भील, महिला सदस्य संपत्त व्यास, उमा शर्मा को मनोनीत किया गया ।

’आगामी वाक् पीठ शंभूपुरा में’ आगामी सत्रारम्भ वाक् पीठ राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय शंभूपुरा, तहनाल में करने का निर्णय लिया गया

About मूलचन्द पेसवानी

Check Also

पालड़ी बाल सुधार गृह से 6 बाल अपचारी फरार, जिलेभर में नाकाबंदी भीलवाड़ा

पालड़ी बाल सुधार गृह से 6 बाल अपचारी फरार, जिलेभर में नाकाबंदी भीलवाड़ा ,मूलचन्द पेसवानी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *