Home / राजस्थान / भीलवाड़ा / शिक्षा के साथ संस्कृति व संस्कार जरूरी-संचेती-भीलवाडा

शिक्षा के साथ संस्कृति व संस्कार जरूरी-संचेती-भीलवाडा

शिक्षा के साथ संस्कृति व संस्कार जरूरी-संचेती

भीलवाड़ा – मूलचन्द पेसवानी

जिले के बीगोद में महावीर जन कल्याण संस्थान द्वारा संचालित नवजीवन पब्लिक स्कूल में वार्षिक उत्सव के साथ विदाई समारोह संपन्न हुआ। दिनकर संदेश के प्रधान संपादक प्रबुद्ध समाजसेवी चिन्तक दिनेश संचेती दिनकर के मुख्य आतिथ्य तथा सरपंच मेहरून बानू की अध्यक्षता में संपन्न समारोह में विदाई सहित कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुतियां हुई।

समारोह को सम्बोधित करते हुए दिनेश संचेती ने कहा कि शिक्षा के साथ संस्कृति व संस्कारों की भी अत्यंत जरूरत होती है, आज के पढ़े लिखे युवक-युवतियां डिग्री व पेकेज के चक्कर में रहते हैं, वे संस्कार व संस्कृति भूलते जा रहे है, यह चिंता का विषय है, हमारी युवा पीढ़ी को शिक्षा के साथ संस्कारों से जोड़ने की जरूरत है।

विद्यालय प्रधानाध्यापिका प्रीति बाबेल के शिक्षा विभाग में द्वितीय श्रेणी शिक्षिका के रूप में चयन होने पर उनका सम्मान करते हुए तथा प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत किया गया।

कार्यक्रम में जिला कांग्रेस सचिव अब्दुल कय्यूम, पत्रकार प्रमोद नागोरी, ठेकेदार मुस्तफा लौहार, नवीन बाबेल, पंचायत समिति सदस्य मुजफ्फर हुसैन, खातून बानो सहित नागरिक उपस्थित थे। संयोजन प्रीति बाबेल ने किया।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, सौंपे सीएम सहायता राशि के चेक

चित्तौड़गढ़-कोटा राष्ट्रीय राजमार्ग दुर्घटना भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *