Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / वाराणसी / शिक्षा के सामाजिक सरोकार विषयक व्याख्यान – बनारस
शिक्षा के सामाजिक सरोकार विषयक व्याख्यान - बनारस
शिक्षा के सामाजिक सरोकार विषयक व्याख्यान - बनारस

शिक्षा के सामाजिक सरोकार विषयक व्याख्यान – बनारस

सेवापुरी 2 दिसंबर 2019 पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय बालिका महाविद्यालय सेवापुरी में आयोजित शिक्षा के सामाजिक सरोकार विषयक व्याख्यान के मुख्य वक्ता प्रोफेसर निरंजन सहाय, महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ वाराणसी ने अपने वक्तव्य में कहा के शिक्षा के समग्र पहलुओं पर हमें विचार करने की आवश्यकता है, इसके अन्तर्गत उन्होंने बहुलतावाद, अस्मिता और लैंगिक समानता पर अपने तार्किक और सारगर्भित व्याख्यान प्रस्तुत किया। उन्होंने कहा कि शिक्षा के सामाजिक सरोकार की चर्चा ज्योतिबाफुले और सावित्रीबाई फुले के जिक्र के बिना अधूरी है। आगे उन्होंने कहा कि भारतीय संविधान की भावना के अनुरूप ्भारत के नागरिकों को बिना किसी वर्ण, जाति, लिंग भाषा के विभेद बिना समान रूप से प्रदत्त किया जाना चाहिए, इसके लिए शिक्षा नीति १९८६ को मील का पत्थर बताया, जो समता के सिद्धांत की पोषक है।

मुख्य अतिथि प्रो अनुराग कुमार, विभागाध्यक्ष हिंदी ने शिक्षा को अस्मिता से जोड़ते हुए कहा कि जबतक राष्ट्र से विभेदकारी मानसिकता का खात्मा नहीं होगा तब तक राष्ट्र विकास की सीढ़ियां नहीं चढ़ सकता।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहीं महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ यशोधरा शर्मा ने डा सर्वपल्ली राधाकृष्णन के भारतीय दर्शन में वर्णित शिक्षा के उद्देश्य पर सारगर्भित प्रकाश डालते हुए नारी शक्ति को रूढ़िवादी चिंतन रूपी कारा को तोड़कर आजादी के मार्ग पर चलने के लिए वकालत की, जो भारतीय संस्कृति के अनुरूप हो। इस अवसर पर हिन्दी और समाजशास्त्र की छात्राओं को पुरस्कृत किया गया।

कार्यक्रम का विषय प्रवर्तन प्रो घनश्याम कुशवाहा और संचालन डॉ कमलेश कुमार वर्मा ने किया, इस अवसर पर महाविद्यालय के डा रविप्रकाश गुप्त, डा सत्यनारायण वर्मा, डॉ गीता रानी शर्मा, डॉ अर्चना गुप्ता, डॉ आशा, डॉ सर्वैश कुमार सिंह, डॉ कमलेश कुमार सिंह आदि उपस्थित रहे। धन्यवाद ज्ञापन डॉ रामकृष्ण गौतम ने किया।

Check Also

कैन्ट पुलिस ने सड़कों पर बदला चेकिंग का अंदाज वाराणसी

कैन्ट पुलिस ने सड़कों पर बदला चेकिंग का अंदाज आवश्यक सेवाओ से सम्बंधित पास के …