Home / राजस्थान / चूरू / शीतलहर कि चपेट मे जिला,तापमान पहुँच माइन्स 0.6 डिग्री – चूरू

शीतलहर कि चपेट मे जिला,तापमान पहुँच माइन्स 0.6 डिग्री – चूरू

सरदारशहर

शीतलहर कि चपेट मे जिला,तापमान पहुँच माइन्स 0.6 डिग्री

तहसील क्षेत्र में पारा जमाव बिन्दु की और,

सर्दी का डबल टॉचर जारी,

सर्दी ने छुटाई धूजणी,

सीजन की सबसे ठंडी रात,

रेतीलों टीब्बों एवं लहराती फसलों सहित वाहनों पर जमी बर्फ,

तहसील क्षेत्र में फसलों पर जमी बर्फ,

फसलों को नुकसान होने की संभावना

सरदारशहर। चूरू जिला अपने तापमान के लिए प्रदेश भर में हमेशा चर्चा में रहता है इस समय चूरु जिले के सरदारशहर में कड़ाके की सर्दी पड़ रही है तापमान जमाव बिंदु पर जा पहुंचा है थार के प्रवेश द्वार चूरू में पिछले एक सप्ताह से लगातार नीचे गिर रहा पारा अब माइनस में पहुंच गया है। मौसम विभाग ने सुबह यहां न्यूनतम तापमान माइनस 0.6 डिग्री दर्ज किया है। यहां भी धोरों और फसलों पर बर्फ की चादर बिछी है। फसलों को रात को दिया गया पानी सुबह बर्फ की परत के रूप में देखा जा रहा है। बर्फानी सर्दी के कारण दिन की शुरूआत देरी से हो रही है। लोग धूप निकलने तक बिस्तरों में दुबके बैठे रहे। सार्वजनिक स्थानों पर लोगों को आग से तपते देखा जा सकता है। सर्दी का आलम यह है कि घरों से बाहर बर्तनों में पानी जम गया है। वहीं धुंध के चलते सर्दी का डबल अटैक शहरवासियों को झेलना पड़ रहा है। खेतों में रखे हुए फसलों के ऊपर भी पानी की बूंदे जमी हुई नजर आ रही है शहर के लोग जगह-जगह अलाव का सहारा लेकर सर्दी से बचने के उपाय कर रहे हैं लेकिन सर्दी से राहत नहीं मिल रही है सर्दी का सितम शहर के व्यापारियों को भी झेलना पड़ रहा है व्यापार ठप सा हो गया है बाजार देरी से खुल रहे हैं शीतलहर ने भी आमजन पर खासा असर डाला है शीतलहर के चलते दिनभर ठिठुरन बनी रहती है। घरों में बर्तन में रखा पानी में सुबह बर्फ जम गई, बाहर खड़े वाहनों की सीट पर बर्फ जम गई एवं वाहनों पर बर्फ की चादर देखी गई। खेतों में बालू रेत के धोरों पर भी बर्फ की चादर बिछी दिखाई दी। फसलों में भी नुकसान की संभावना जताई जा रही है। तहसील की रोही में बाड़ पर बर्फ की सफेद परत जम गई। किसानो का कहना है कि खेत में फसलों पर बर्फ ही बर्फ जम गई थी। मूंगफली पर तिरपाल लगाना पड़ा तो तिरपाल पर बर्फ जम गई। किसानों की माने तो पाला फसल के लिए नुकसानदायक है। इससे फसल नष्ट हो जाती है। ऐसा दो-तीन दिन हुआ तो जिले में फसलों का अधिक नुकसान हो सकता है।

यहाँ देखें वीडियो न्यूज़ ????

विवेक पाल सिंह

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

कोरोना एवं मतदान जागरूकता साईकिल रैली रवाना-चूरू

कोरोना एवं मतदान जागरूकता साईकिल रैली रवाना-चूरू

कोरोना एवं मतदान जागरूकता साईकिल रैली रवाना चूरू, 22 सितम्बर। जिला कलक्टर डॉ. प्रदीप के. …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *