Breaking News
Home / राजस्थान / भीलवाड़ा / संबंध अवैध हो सकते हैं लेकिन उन सम्बन्धों से पैदा हुये बच्चे अवैध नहीं- साध्वी ऋतम्भरा भीलवाड़ा

संबंध अवैध हो सकते हैं लेकिन उन सम्बन्धों से पैदा हुये बच्चे अवैध नहीं- साध्वी ऋतम्भरा भीलवाड़ा

संबंध अवैध हो सकते हैं लेकिन उन सम्बन्धों से पैदा हुये बच्चे अवैध नहीं- साध्वी ऋतम्भरा

भीलवाड़ा- मूलचन्द पेसवानी 

चित्त ही मनुष्य का लेखा जोखा रखता है। दिनभर ही नहीं वरन जीवनभर किये गए अच्छे और बुरे कामों का हिसाब किताब मनुष्य के चित्त में अर्थात स्मृति में रहते हैं। हमें अपनी ही नजरों में गिरने की नहीं बल्कि कदमों में गिरने की जरूरत है। यह बात परम पूज्या साध्वी दीदी माँ ऋतम्भराजी ने आज भीलवाड़ा में चार्टर्ड अकाउंटेंट एसोसिएशन के पटेलनगर स्थित भवन में उपस्थित प्रमुख चार्टर्ड अकाउंटेंट से कही। 

दीदी माँ ने कहा प्रकृति हमें अनादि काल से देती आ रही है। उसकी पूरी प्रक्रिया देने की है इसके उलट इंसान की पूरी प्रवृत्ति लेने की है इसी स्वभाव के कारण संसार मे वही सबसे ज्यादा दुःखी है। मैने देखा उदर पूर्ति के लिए रोटी मांगने वाला भिखारी नहीं होता बल्कि प्यार और इज्जत मांगने वाला सबसे बड़ा भिखारी होता है। प्यार ओर इज्जत देने की चीज है,इसे लुटाते रहे।तुम करके कुछ दिखलाओ प्रेम प्यार के मोती दोनों हाथ लुटाओ।

दीदी ने बताया कि वात्सल्य ग्राम वृंदावन की 25 वर्ष पूर्व स्थापना की गई। वात्सल्य यात्रा समाज द्वारा वहाँ पालना में छोड़े गए छोटे छोटे बच्चों की सेवा का काम उन्होंने प्रारम्भ किया। उन्होंने कहा कि संबंध अवैध हो सकते हैं लेकिन उन सम्बन्धों से पैदा हुये बच्चे अवैध नहीं होते, वे अबोध होते हैं। समाज के दोष की सजा बच्चों को नहीं मिलनी चाहिए।उन्होंने कहा अनाथालय में रोटी मिल सकती है लेकिन स्वाभिमान नहीं, नारी केन्द्रों में शरण मिल सकती है लेकिन वहाँ उनकी इज्जत और ऊर्जा कुंठित होती है। वृद्धाश्रम में व्यक्ति मौत का इंतजार करते हैं, ये तीनो केन्द्र संवेदनशील नहीं होते, यही सोचकर वात्सल्य सृष्टि की रचना प्रारम्भ की गई। उन्होंने ऐसे जागृति केन्द्र को सभी प्रकार के सहयोग की अपील भी की।

सभी सी ए को दीदी माँ ने आव्हान किया कि आप सृष्टि बदलने की ताकत रखते हो।चित्रगुप्त की परम्परा के लोग हो, राष्ट्र निर्माण में आपका योगदान अतुलनीय हो सकता है। उद्बोधन से पूर्व दीदी माँ ने भारत माता की तस्वीर के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन किया। इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ महानगर संघचालक चाँदमल सोमानी, वात्सल्य ग्राम मेवाड़ संभाग प्रमुख प्रकाश अग्रवाल भी उपस्थित थे। संचालन सी ए दिनेश सुथार ने किया, दीदी माँ का स्वागत आलोक पलोड़, सोनेश काबरा, निर्भीक गांधी, सुनील सोमानी, अरुण काबरा, मुकेश नुवाल, महावीर खाब्या, अनुज शर्मा आदि ने किया।

About मूलचन्द पेसवानी

Check Also

भाजपा के वरिष्ठ नेता ओर पुर्व मंत्री कालुलाल गुर्जर के खिलाफ सोशल मीडिया पर अक्ष्लील विडीयो प्रसारित करने का मामला दर्ज

भाजपा के वरिष्ठ नेता ओर पुर्व मंत्री कालुलाल गुर्जर के खिलाफ सोशल मीडिया पर अक्ष्लील …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *