Home / मध्यप्रदेश / सतना 5 साल तक खेत को खाली छोड़ना पड़ सकता है महंगा-मध्य प्रदेश

सतना 5 साल तक खेत को खाली छोड़ना पड़ सकता है महंगा-मध्य प्रदेश

ब्यूरो रिपोर्ट मध्य प्रदेश सतना 5 साल तक खेत को खाली छोड़ना पड़ सकता है महंगा आपको बता दें कि 5 साल तक खेत को खाली छोड़ना अब आपको महंगा पड़ने वाला है आइए बताते हैं क्या है पूरा मामला दरअसल मध्य प्रदेश भू राजस्व संहिता में शासन में कुछ ऐसा ही बदलाव किया गया है संशोधन में यह तय किया गया है कि किसी खेत में अगर किसान के द्वारा लगातार पांच साल तक खेती नहीं की जाती है तो वह जमीन सरकारी हो जाएगी यह बदलाव धारा 175 के बाद धारा 176 के अंता स्थापन के तहत किया गया है हालांकि पहले भी इस तरह के प्रावधान किए जा चुके हैं लेकिन सरकार ने इसका दुरुपयोग देखते हुए खत्म कर दिया था लेकिन अब एक बार फिर से इसे वापस जोड़ा गया है मध्य प्रदेश भू राजस्व संहिता में किए गए इस प्रावधान का प्रकाशन राजपत्र में कर दिया गया है इसका आशय यह है कि उस खाली जमीन को शासकीय घोषित कर दिया जाएगा सामान्य भाषा में इसे समझे की अगर किसी किसान ने अपना ग्राम छोड़ दिया है और 5 साल से खेत में खेती नहीं हो रही है और उसका लगान भी जमा नहीं हो रहा है तो उस जमीन को तहसीलदार अपने कब्जे में ले लेंगे संशोधन में यह भी स्पष्ट किया गया है कि अगर तय अवधि मैं कोई दावा प्रस्तुत नहीं होता या किया गया दावा नामंजूर कर दिया जाता है तो इसका प्रतिवेदन तहसीलदार अपने अनुविभागीय अधिकारी को सौंपेंगे अनुविभागीय अधिकारी इसके बाद उस जमीन को पारी तख्त घोषित करते हुए सरकारी घोषित करेगा इससे किसानों के सामने बड़ी दुविधा आन पड़ी है 

 ब्यूरो रिपोर्ट मध्य प्रदेश

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

COVID-19: लॉकडाउन ने कुत्तों को बनाया खूंखार-मध्यप्रदेश

COVID-19: लॉकडाउन ने कुत्तों को बनाया खूंखार, इंदौर में 1000 से ज्यादा हुए शिकार इंदौर …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *