Home / राजस्थान / भीलवाड़ा / समाज की सोच उस दिन ठीक हो जायेगी जब लोग मिठाई बांटकर कहेंगे की मेरे घर बेटी पैदा हुई है-भीलवाड़ा

समाज की सोच उस दिन ठीक हो जायेगी जब लोग मिठाई बांटकर कहेंगे की मेरे घर बेटी पैदा हुई है-भीलवाड़ा

समाज की सोच उस दिन ठीक हो जायेगी जब लोग मिठाई बांटकर कहेंगे की मेरे घर बेटी पैदा हुई है-एडीजे राजीव चैधरी

भीलवाड़ा- मूलचन्द पेसवानी

भीलवाडा में राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर शुक्रवार को चिकित्सा विभाग, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण व शिक्षा विभाग के तत्वावधान में सेठ मुरलीधर मानसिंहका राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय, भीलवाडा में बेटी बचाओं विषय पर लडकियों के जन्म, उनके समुचित पालन पोषण और देश में समान अधिकारों व अवसरों के साथ सशक्त नागरिकों के तौर पर वे बडी हो सके, इस उद्देश्य को साकार करने के लिए जिला स्तरीय समारोह का आयोजन किया गया। इस दौरान विद्यालय में बालिकाओं ने बेटी बचाओ, बेटी पढाओ, भू्रण लिंग परीक्षण की जांच न करने, बेटिया अनमोल है आदि विषयों पर रंगोली, चित्राकला लेखन व निबन्ध प्रतियोगिताओं में भाग लिया। इससे पूर्व सूचना केन्द्र चैराहें पर नर्सिंग विद्यार्थियों व स्कूली छात्राओं द्वारा जागरूकता रैली निकाल बेटी बचाओं के संदेश को पूरे जिले में फैलाया गया।

जिला स्तरीय समारोह के दौरान अध्यक्ष, स्थाई लोक अदालत भीलवाडा विष्णुदत्त शर्मा ने नारी शक्ति व नारी को दुनियां की शान बताते हुए कहा कि आज के दौर में बेटियां जिस तरह से आगे बढकर देश, समाज व अपने परिवार का नाम रौशन कर रही है, वह देश की अन्य बेटियों के लिए अनुकरणीय है। उन्होंने स्कूली छात्राओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि हमें भी नारी शक्ति को पहचानना होगा और इसी दिशा में शिक्षा ग्रहण कर आगे बढकर अपनी पहचान बनाने का आह्वान किया। इस दौरान बालिकाओ के महत्व के प्रति जागरूकता लाने हेतु स्कूल में डाॅटर्स फाॅर डाॅटर्स के तहत जरूरतमंद, असहाय व निर्धन 6 बच्चियों को अल्ट्रा सोनोग्राफी सोसायटी द्वारा गोद लिया और 10-10 हजार रूपये के चैकों का वितरण किया गया साथ हीं बालिका उत्थान हेतु एक या दो बच्चियों वाले माता-पिता को सम्मानित भी किया गया।

समारोह के दौरान सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण राजीव चैधरी ने बालिका महत्ता पर प्रकाश डालते हुए वर्तमान समय में हो रहे नारी शोषण की कहानी को बयां कर नारी को देवीतुल्य बताया और कहा कि नारी के बिना इस सृष्टि की कल्पना नहीं की जा सकती है। नारी है तो कल है, के संबंध में विस्तार से बताकर बेटी बचाओं व बेटी पढाओं के संदेश का अपने आस-पास व्यापक प्रचार प्रसार करने की बात कही। इस दौरान उन्होंने स्वास्थ्यप्रद उपयोगी जानकारियां देकर सरकार द्वारा भी बेटियों के हित में संचालित योजनाओं की जानकारियां दी । अन्त में उन्होंने कहा कि समाज की सोच उस दिन ठीक हो जायेगी जब लोग मिठाई बांटकर कहेंगे की ‘‘मेरे घर बेटी पैदा हुई है। इस अवसर पर विजेता छात्राओं को मंचस्थ उपस्थित अतिथियों द्वारा पुरस्कार वितरण का कार्य किया तथा शपथ ग्रहण अभियान के दौरान मंचस्थ सभी आगन्तुकों व उपस्थित सभी छात्राओं ने बेटी बचाओं को लेकर शपथ ग्रहण की तथा बेटी बचाओं, बेटी पढाओं विषय को लेकर हस्ताक्षर अभियान का आयोजन किया गया। समारोह के दौरान डिप्टी सीएमएचओ डाॅ. घनश्याम चावला, पीएमओ डाॅ. अरूण गौड, जिला आरसीएच अधिकारी डाॅ. सीपी गोस्वामी, डाॅ. राजेश छापरवाल, शिक्षा विभाग के एडी कमलेश शर्मा, विद्यालय की कार्यवाहक प्राचार्या सीमा चतुर्वेदी, सीमा त्रिवेदी, मंजू पोखरणा, डाॅ. अनिता गुप्ता, डाॅ. निधि, डाॅ. सुमन त्रिवेदी, पीसीपीएनडीटी समन्वयक रामस्वरूप सेन, चन्द्रदेव आर्य सहित अन्य विभागों के अधिकारियों सहित चिकित्सा विभाग के अनुभाग अधिकारी, बालिका विद्यालय की अध्यापिकाऐं व छात्राऐं उपस्थित थी।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. मुस्ताक खान ने राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर बेटियों के प्रति समाज में फैल रहीं गलत धारणाओं, रूढियों को बदलकर बेटियों के प्रति अपनी सोच को बदलने की बात कहकर बेटी बचाओं-बेटी पढाओं का संदेश दिया साथ हीं बालिकाओं के जन्म को प्रोत्साहित करने के लिए सरकार द्वारा संचालित की जा रही राजश्री योजना के अन्तर्गत बालिका के जन्म पर दिये जाने वाले 50 हजार रू. की राशि के परिलाभ के बारे बताया तथा कन्या भू्रण हत्या जैसे जघन्य अपराधों पर अंकुश लगाने की बात बताई और इसकी सूचना 104 पर देने पर मुखबीर योजना के दिये जाने वाले परिलाभ के बारे में बताया साथ हीं पीसीपीएनडीटी एक्ट पर बालिकाओं को उपयोगी जानकारियां व्याख्यान के दौरान दी।

जिला चिकित्सालय में केक काटकर मनाया बेटी जन्मोत्सवः

राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर अन्त में महात्मा गांधी राजकीय जिला चिकित्सालय के एमसीएच वार्ड में 01 से 20 जनवरी तक जन्मी नन्हीें बालिकाओं का केक काटकर जन्मोत्सव उत्साहपूर्वक मनाया गया इस दौरान उन्हें खिलौन भी वितरित किये गये। इस दौरान जिला चिकित्सालय के वार्डो में बेटी को जन्म देने वाली प्रसूता माताओं को फल व बिस्किट वितरण किये गये साथ हीं बच्चों को बेबी कीट वितरण भी किये।

आज राष्ट्रीय बालिका दिवस के शुभ अवसर पर बाल कल्याण समिति के सदस्यों द्वारा प्रातः सूचना केंद्र पर आयोजित रैली में भाग लिया गया एवं मुरलीधर मानसिंहका बालिका विद्यालय में जिला स्तरीय बेटी बचाओ जागरूकता कार्यक्रम एवं महात्मा गांधी चिकित्सालय परिसर में बालिका जन्मोत्सव कार्यक्रम बाल कल्याण समिति के सदस्य ने भाग लिया एवं डाॅ. राजेश छापरवाल ने बालिकाओं के समक्ष अपने विचार प्रस्तुत किए उसके उसके उपरांत मध्यान्ह में महात्मा गांधी चिकित्सालय में बालिका जन्मोत्सव में डाॅ. राजेश छापरवाल, सीमा त्रिवेदी चंद्रकला ओझा, फारुख पठान ने भाग लिया और समिति के सदस्यों द्वारा नवजात शिशु इकाई में जाकर अज्ञात बालिका रवीशा के स्वास्थ्य की जानकारी ली गई एवं वहां कार्यरत चिकित्सक डाॅ. सरिता काबरा एवं इंदिरा सिंह से उसकी स्वास्थ्य रिपोर्ट के बारे में बातचीत की गई। बच्ची को देखने से मालूम हुआ है कि उसके स्वास्थ्य में कुछ सुधार हो रहा है एवं बालिका दिवस के उपलक्ष में सभी ईश्वर से प्रार्थना करते हैं बालिका शीघ्र स्वस्थ हो एवं बाल ग्रह के अंदर उसकी किलकारी गूंजी।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, सौंपे सीएम सहायता राशि के चेक

चित्तौड़गढ़-कोटा राष्ट्रीय राजमार्ग दुर्घटना भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *