Home / राजस्थान / सरसों एवं चने की समर्थन मूल्य पर खरीद 25 क्विंटल के बजाय अब 40 क्विंटल उपज की होगी तुलाई

सरसों एवं चने की समर्थन मूल्य पर खरीद 25 क्विंटल के बजाय अब 40 क्विंटल उपज की होगी तुलाई

किसानोपयोगी सूचना

सरसों एवं चने की समर्थन मूल्य पर खरीद 25 क्विंटल के बजाय अब 40 क्विंटल उपज की होगी तुलाई

कोटा संभाग में 16 अप्रेल से तथा शेष संभागों में 1 मई से खरीद होगी प्रारंभ

किसानों से सरसों एवं चने की समर्थन मूल्य पर खरीद एक दिन में अधिकतम 25 क्विंटल के बजाय 40 क्विंटल किये जाने की भारत सरकार ने अनुमति दे दी है। 

25 क्विंटल की तुलाई सीमा के कारण किसानों को हो रही परेशानी को दूर करने के लिये भारत सरकार से एक दिन में 25 क्विंटल की खरीद सीमा को बढ़ाने का आग्रह किया गया था। कोटा संभाग के किसानों से 16 अप्रेल से 92 केन्द्रों पर खरीद प्रारंभ की जाएगी। यह जानकारी प्रबंध निदेशक, राजफैड श्रीमती सुषमा अरोडा ने दी।

प्रबंध निदेशक, राजफैड ने बताया कि कोटा संभाग को छोडकर शेष राजस्थान में 1 मई से सरसों एवं चने की खरीद शुरू की जाएगी। लाकडाउन के कारण खरीद को स्थगित कर दिया गया था। 

पूर्व में कोटा संभाग में 46 केन्द्र (23 सरसों व 23 चना ) समर्थन मूल्य पर खरीद के लिए खोले गए थे। अब 46 (23 सरसों व 23 चना ) और नए खरीद केन्द्रों को खोला गया हैं।

खरीद के दौरान कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए पर्याप्त सुविधाएं खरीद केन्द्रों को मुहैया कराई जाएगी। किसानों को अपने खेत के नजदीक ही उपज बेचान का केन्द्र मिले इसके लिए खरीद केन्द्रों की संख्या बढाई गई है। 

सरसों का समर्थन मूल्य 4425 रूपये प्रति क्विंटल तथा चने का 4875 रूपये प्रति क्विंटल है।

समर्थन मूल्य पर सरसों एवं चने के बेचान के लिए 2 लाख 40 हजार किसानो द्वारा पंजीकरण कराया जा चुका है। उन्होंने बताया कि 1 मई से पुनः पंजीयन प्रारंभ किया जाएगा। 

खरीद के दौरान बारदाने की समस्या उत्पन्न नही हो इसके लिए सभी क्षेत्रीय अधिकारी एक सप्ताह पूर्व बारदाने का आंकलन कर राजफैड को भिजवाने के निर्देश दिए गए है। ताकि समय पर व्यवस्था हो सके।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

मनरेगा में 15 लाख से अधिक परिवारों को 100 दिन का रोजगार अवश्य दिलवायें – मुख्य सचिव

मनरेगा में 15 लाख से अधिक परिवारों को 100 दिन का रोजगार अवश्य दिलवायें …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *