Home / राजनीती / सोनिया गांधी शिवसेना को लेकर इस बात की चाहती हैं गारंटी

सोनिया गांधी शिवसेना को लेकर इस बात की चाहती हैं गारंटी

राकांपा सुप्रीमो शरद पवार के साथ कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की दो दौर की बैठक के बाद भी साथ आने के ‘फॉमूले’ पर लगातार बातचीत चल रही है। सूत्रों का दावा है कि सरकार में हिस्सेदारी को लेकर ज्यादा विवाद नहीं है। शिवसेना से उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री बन सकते हैं। वहीं, राकांपा के खाते में गृह मंत्रालय, रेवेन्यू और सानिवि विभाग के साथ-साथ उप-मुख्यमंत्री का पद भी जा सकता है, जबकि कांग्रेस को भी नए समीकरण में डिप्टी सीएम की कुर्सी मिल सकती है।

इस फैसले पर तीनों पार्टियां राजी भी हैं, लेकिन इसके बावजूद भी महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर अभी तक कोई औपचारिक फैसला नहीं हो सका है। दरअसल, कांग्रेस की अंतरिम अध्‍यक्ष सोनिया गांधी एनसीपी प्रमुख शरद पवार से शिवसेना को लेकर ‘गारंटी’ चाहती हैं। बताया जाता है कि इसी बात पर मामला अटका हुआ है।

जानकारी के मुताबिक, सरकार गठन में देरी की वजह शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस के बीच सत्ता के बंटवारे के साथ-साथ विचारधारा का भी बड़ा टकराव है। सोनिया गांधी विवादास्पद मुद्दों पर भविष्‍य में शिवसेना की भूमिका पर शरद पवार से ‘गारंटी’ चाहती हैं।

जानकारी के मुताबिक, सोनिया गांधी चाहती हैं कि एनसीपी प्रमुख पवार इस बात की गारंटी दें कि शिवसेना भविष्‍य में साम्प्रदायिक नीतियों को भविष्य में न दोहराएं। शरद पवार इसको लेकर असमंजस में हैं और इस बात का आश्‍वासन नहीं दे सके हैं। सोनिया गांधी यह भी चाहती हैं कि शिवसेना पहले सिटीजनशिप अमेंडमेंट बिल और जनसंख्या नियंत्रण के मुद्दे पर अपना विचार साफ करे दे कि वह कांग्रेस के रुख का समर्थन करेगी या अलग लाइन लेगी?

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

संविधान दिवस पर ली शपथ इन्द्रगढ़

26 नवम्बर छठे संविधान दिवस के अवसर पर गुरूवार 26 नवम्बर को क्षेत्र की ग्राम …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *