Breaking News
Home / राजस्थान / स्टेडियम में ध्वजारोहण कर परेड का निरीक्षण किया।

स्टेडियम में ध्वजारोहण कर परेड का निरीक्षण किया।

आजादी के बाद देश के सामने कई चुनौतियां आई लेकिन देश इन चुनौतियों का मुकाबला करते हुए आगे बढ़ता रहा क्योंकि हमारे लोकतंत्र की जड़ें मजबूत हैं। महात्मा गांधी, पं. नेहरू, सरदार पटेल, डॉ. अम्बेडकर और मौलाना आजाद जैसे महान नेताओं ने इस लोकतंत्र को मजबूत बनाया है। सरकारें आती रही जाती रहीं लेकिन देश में लोकतंत्र कायम रहा। इस लोकतंत्र को मजबूत बनाए रखने की जिम्मेदारी हम सभी की है, क्योंकि लोकतंत्र बचेगा तभी देश बचेगा। 

74वें स्वाधीनता दिवस के अवसर पर जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में आयोजित राज्यस्तरीय समारोह को संबोधित किया। स्टेडियम में ध्वजारोहण कर परेड का निरीक्षण किया। 

देश जब आजाद हुआ तब यहां देश में बिजली, पानी, सड़क, स्वास्थ्य एवं शिक्षा जैसी मूलभूत सुविधाएं भी नहीं थी। हमारे प्रथम प्रधानमंत्री पं. जवाहर लाल नेहरू ने अपनी दूरदर्शिता से भारत को आत्मनिर्भर बनाने की नींव रखी। उन्होंने बड़े-बड़े बांधों का निर्माण करवाया और औद्योगिक विकास को गति देने के लिए कई कारखाने स्थापित किये। उन्होंने एम्स, इसरो, आईआईटी जैसे उच्च स्तरीय संस्थानों की स्थापना की। इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और डॉ. मनमोहन सिंह जैसे दूरदर्शी सोच रखने वाले नेताओं की नीतियों एवं विजन से भारत की प्रतिष्ठा बढ़ी और हमारा देश विकास के इस मुकाम तक पहुंचा।

इस मुल्क में विभिन्न धर्म, सम्प्रदाय और जातियों के लोग रहते हैं। विभिन्न भाषाएं बोली जाती हैं। इतनी विविधता के बावजूद हमारे नेताओं ने सर्वधर्म समभाव, समाजवाद एवं धर्मनिरपेक्षता के सिद्धांतों के साथ इस देश को एकजुट एवं अखण्ड रखा। इन सिद्धांतों पर चलते हुए हमें धर्म एवं जाति के नाम पर नफरत फैलाने वाली ताकतों को मुंहतोड़ जवाब देना होगा, ताकि देश में अमन-चैन बना रहे। 

यूपीए सरकार के समय देश में अधिकार आधारित युग की शुरूआत हुई। देशवासियों को खाद्य सुरक्षा, सूचना एवं शिक्षा का अधिकार तथा मनरेगा के रूप में रोजगार का अधिकार मिला। स्व. राजीव गांधी देश में सूचना क्रांति लेकर आए उसी का परिणाम है कि आज हर हाथ में मोबाईल है लोगों को घर बैठे देश और दुनिया की जानकारी मिल रही है। राजीव गांधी सेवा केन्द्रों के माध्यम से गांवों में भी आईटी के माध्यम से आम जनता से जुड़े जरूरी काम हो रहे हैं।

कोविड-19 संक्रमण के इस दौर में राजस्थान ने बेहतरीन प्रबंधन कर आमजन को राहत पहुंचाई है। सजगता-सर्तकता तथा प्रदेशवासियों के सहयोग का ही परिणाम है कि राजस्थान कोरोना के हर पैरामीटर पर बेहतर स्थिति में है। सरकार ने जरूरतमंद तबके को राहत देने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। कोरोना संक्रमण के विकट समय में गरीब, असहाय, बेसहारा एवं जरूरतमंदों को संबल देने के लिए राज्य सरकार ने अब तक 6 हजार करोड़ रूपये खर्च किये हैं।

इस अवसर पर देश की रक्षा के लिए प्राण न्यौछावर करने वाले शहीदों, स्वतंत्रता सेनानियों तथा जांबाज सैनिकों को याद किया, उनके त्याग और बलिदान को कभी नहीं भुलाया जा सकता। 

इस अवसर पर आर्मी एवं सेंट्रल पुलिस बैण्ड की ओर से बैण्डवादन एवं लोक कलाकारों ने लोकगीतों और नृत्य के साथ ही देशभक्ति गीतों की प्रस्तुति दी। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, नर्सिंगकर्मियों, चिकित्सकों, सफाई कार्मिकों एवं पुलिसकर्मियों ने कोरोना योद्धा के रूप में हम होंगे कामयाब गीत की आकर्षक प्रस्तुति दी। अंत में राष्ट्रगान के साथ समारोह का समापन हुआ। कार्यक्रम में राज्य मंत्री परिषद के सदस्य, विधायक, अन्य जनप्रतिनिधि, अधिकारी-कर्मचारी सहित अन्य गणमान्यजन उपस्थित थे।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

मनरेगा में 15 लाख से अधिक परिवारों को 100 दिन का रोजगार अवश्य दिलवायें – मुख्य सचिव

मनरेगा में 15 लाख से अधिक परिवारों को 100 दिन का रोजगार अवश्य दिलवायें …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *