Breaking News
Home / राजस्थान / पाली / स्वच्छता सर्वेक्षण 2020: वैज्ञानिक दृष्टिकोण से ‘स्वच्छता’ के नवाचार की कवायद

स्वच्छता सर्वेक्षण 2020: वैज्ञानिक दृष्टिकोण से ‘स्वच्छता’ के नवाचार की कवायद

सुमेरपुर। 2020 में होने वाले स्वच्छता सर्वेक्षण में सुमेरपुर एवं तखतगढ़ नगरपालिका को प्रदेश में सिरमौर बनाने को लेकर नगरपालिका प्रशासन ने नवाचार की कवायद शुरू कर दी है। स्वायत्त शासन विभाग ने दोनों नगरपालिकाओं के वैज्ञानिक दृष्टिकोण से ‘स्वच्छता’ के सुधार लाने के लिए एक कंपनी को न्योता दिया है। इसकी कवायद के बाद प्रदेश में प्लास्टिक की पाबंदी होने पर बायो-डी-ग्रेडबल प्लास्टिक उपयोग लाने का प्रयास करेंगे। खाने पीने के लिए सिंगल प्लास्टिक को सडक़ के निर्माण में लाया जाना प्रस्तावित है। वहीं, शहर में शीघ्र ही खाद्य सामग्री के ठोस पदार्थ से चम्मच व ग्लास मिलेंगे। जो बाद में उन्हें खा सकते हैं। नगरपालिकाओं में सार्वजनिक शौचालय पर डिस्पले लगाई जाएगी। इस डिस्पले पर आमजन विभिन्न सवालों के उत्तर देने पर पालिका के खातों में अंक जुड़ेंगे। वहीं, बगीचों को सुन्दर बनाने के लिए छाता निर्माण करवाकर ऊपर लाईट लगाएंगे। ताकि छाते बगीचे में न्यू लुक में दिखेंगे। छाते से बरसात का पानी पाइपों से सीधे ही भूमिगत टांकों में एकत्रित होगा। प्रोग्राम इम्पलीमेंट यूनिट ने आमजन को शहरों की स्वच्छता के प्रति जनजागरुकता लाने के लिए स्कूलों मेंं कार्यक्रम करना प्रस्तावित किए हैं।…

Check Also

सिणला गांव में पेयजल संकट, भटकते हैं ग्रामीण

जैतारण। ग्राम पंचायत डीगरना के ग्राम सिणला व इनकी सरहद में स्थित डूंगरनगर, चौहानों की …