Home / राजस्थान / भीलवाड़ा / स्वस्तिधाम में पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव का आगाज-भीलवाड़ा

स्वस्तिधाम में पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव का आगाज-भीलवाड़ा

स्वस्तिधाम में पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव का आगाज 

जहाजपुर आस्था, पर्यटन व आकर्षण का केंद्र बने- राज्यपाल मिश्र

भीलवाड़ा- मूलचन्द पेसवानी

भीलवाड़ा जिले के जहाजपुर स्थित स्वस्ति धाम में आयोजित आठ दिवसीय श्री 1008 मुनिसुब्रतनाथ जिनबिंब पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव एवं विश्व शांति महायज्ञ में आज राज्यपाल कलराज मिश्र पहुंचे। राज्यपाल के आगमन पर पंचकल्याण महोत्सव समिति के अध्यक्ष विनोद जैन टोरड़ी, महामंत्री ज्ञानेंद्र जैन, विधायक गोपीचंद मीणा, विनोद जैन ने हेलीपैड पर उनका स्वागत किया। स्वागत के बाद राज्यपाल मिश्र स्वस्ति धाम स्थित श्री 1008 मुनिसुव्रतनाथ के दर्शन करने पहुंचे।

दर्शन के बाद राज्यपाल मिश्र ने आचार्य ज्ञानसागर जी महाराज व आर्यिकारत्न स्वस्ति भूषण माताजी, आचार्य सुब्रत सागर महाराज, उपाध्याय श्रेय सागर महाराज, आचार्य विनित सागर महाराज सहित अन्य मुनिराजों को श्रीफल भेंट कर आशीर्वाद लिया। बाद मे सभा को राज्यपाल कलराज मिश्र ने संबोधित करते हुए कहा कि यह धार्मिक नगरी आस्था, पर्यटन व आकर्षण का केंद्र बनी चाहिए।इसके लिए हम राज्य व केंद्र सरकार को अवगत कराएंगे। साथ ही सभा को आचार्य ज्ञानसागर जी महाराज आर्यिकारत्न स्वस्ति भूषण माताजी एवं स्थानीय विधायक गोपीचंद मीणा ने संबोधित किया। 

इस कार्यक्रम के दौरान जस्टिस नरेंद्र कुमार जैन, चेयरमैन राष्ट्रीय अल्पसंख्यक शिक्षण संस्थान दिल्ली पीएनसी परिवार के चेयरमैन प्रदीप जैन, तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी मुरादाबाद के कुलाधिपति सुरेन्द्र जैन, जिला कलेक्टर राजेन्द्र भट्ट जिला पुलिस अधीक्षक हरेंद्र महावर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनुकृति उज्जैनिया उपखंड अधिकारी उम्मेद सिंह राजावत तहसीलदार मुकंद सिंह शेखावत पुलिस उपाधीक्षक देशराज गुर्जर थाना अधिकारी हरिश सांखला सहित देश-विदेश से आए जैन समाज के श्रावक श्राविकाओं हजारों की तादात में मौजूद रही।

इससे पूर्व कस्बे में गाजे बाजे के साथ निकली घट यात्रा में बहती भजनों की सरिता के बीच श्रद्धालुओं की आस्था देखते बनी। जैन संतों के दर्शन कर आशीर्वाद लेने वालों का तांता लगा रहा। 

पंचकल्याणक आयोजन महोत्सव समिति जहाजपुर के अध्यक्ष विनोद जैन टोरड़ी व महामंत्री ज्ञानेंद्र जैन ने बताया कि आचार्य ज्ञान सागर महाराज ससंघ व आर्यिका सवस्ति भूषण माताजी के सानिध्य में कस्बे से निकली घटयात्रा में 31 सौ महिलाएं केसरियां परिधान में सिर पर मंगल कलश लिए चल रही थी। बैंडबाजों से भजनों की सरिता प्रवाहित हो रही थी। युवक-युवतियों की अलग-अलग टोलियां नृत्य करती चल रही थी। मार्ग में विभिन्न संगठनों ने यात्रा की अगवानी की। श्रावक-श्राविकाओं ने पाद प्रक्षालन व आरती कर संतों से आशीर्वाद लिया। जहाजपुर-शाहपुरा मार्ग पर जैसे ही घटयात्रा पहंुची प्राकृतिक सौंदय से घिरे जहाजपुर से गुजरने वाले लोग यात्रा का नजारा अपलक निहारते नजर आए। घटयात्रा विभिन्न मार्गो से होते हुए आयोजन स्थल स्वस्तिधाम पहुँच सम्पन्न हुई। यहां जैन मुनियों के सानिध्य में मंत्रोच्चारण के साथ मंगल कलशों में भरे हुए जल से आयोजन स्थल, पांडाल व वेदिका का शुद्धिकरण किया गया। इस दौरान आचार्य ज्ञान सागर महाराज ने शुद्धिकरण का महत्व बताया। कार्यक्रम के पहले दिन भीलवाड़ा, कोटा, उदयपुर, चित्तोड़, जयपुर, देवली, टोंक, निवाई सहित देशभर से बड़ी संख्या में श्रावक-श्राविकाएं पहुँचे।

संतों के सानिध्य में हुआ ध्वजारोहण

आयोजन समिति के महामंत्री ज्ञानेंद्र जैन ने बताया कि घटयात्रा के बाद आयोजन स्थल पर पांडाल व मंच का उद्घाटन हुआ। ध्वजारोहण प्रदीपकुमार जैन, नवीन कुमार जैन मैयर ऑफ आगरा एवं प्रेसीडेंट ऑफ ऑल मेयर कौंसिल एवं पीएनबी परिवार आगरा द्वारा किया गया। इससे पहले सुबह मूलनायक अतिशयकारी भगवान सुव्रतनाथ का अभिषेक एवं शांतिधारा सहित अन्य कार्यक्रम हुए।

धर्मसभा में अहिंसा का संदेश

प्रचार प्रसार के प्रभारी मनोज जैन आदिनाथ ने बताया कि वेदिका शुद्धीकरण के पश्चात तीसरे पहर में धर्मसभा का आयोजन हुआ। आचार्य ज्ञान सागर महाराज व आर्यिका स्वस्तिभूषण माताजी ने धर्मसभा में अहिंसा का संदेश देते हुए मानवकल्याण के लिए कार्य करने की प्रेरणा दी। आचार्य ज्ञान सागर महाराज ने पंचकल्याणक महोत्सव पर विस्तृत प्रकाश डालते हुए कहा कि जीवन को सद्मार्ग पर ले जाने के लिए भक्ति पथ पर चलना जरूरी है। अगर किसी मनुष्य में करूणा व दया का भाव अगर नहीं है तो उसका जीवन व्यर्थ है। महाराजश्री ने अहिंसा के मार्ग पर चलने का संदेश भी दिया। शाम को स्वस्तिधाम परिसर में नाट्य लोक सांस्कृतिक एवं स्वस्थि गाथा की प्रस्तुति हुई। इस दौरान जैन संत आचार्य सुव्रत सागर महाराज, उपाध्याय श्रेय सागर महाराज, आचार्य विनित सागर महाराज, आयोजन समिति अध्यक्ष विनोद जैन टोरड़ी, महामंत्री ज्ञानेंद्र जैन, श्रेयांस जैन, वीरेंद्र जैन, संजय जैन, पवन सोनी सहित बड़ी संख्या में समिति पदाधिकारी व श्रावक-श्राविकाएं मौजूद रहे। स्वस्तिधाम में 7 फरवरी तक होने वाले विभिन्न कार्यक्रमों की श्रंखला में 2 फरवरी, को गर्भकल्याणक सोलह स्वप्न एवं सपनों का फल कार्यक्रम का आयोजन रहेगा।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, सौंपे सीएम सहायता राशि के चेक

चित्तौड़गढ़-कोटा राष्ट्रीय राजमार्ग दुर्घटना भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *