Breaking News
Home / राजस्थान / पाली / हंगामे की भेंट चढ़ी पालिका बोर्ड की बैठक, अतिक्रमण व अवैध निर्माण से नाराज 13 पार्षदों ने सौंपा त्यागपत्र

हंगामे की भेंट चढ़ी पालिका बोर्ड की बैठक, अतिक्रमण व अवैध निर्माण से नाराज 13 पार्षदों ने सौंपा त्यागपत्र

 

पाली/सादड़ी। नगरपालिका बोर्ड  की सोमवार को आयोजित बैठक में गैर मुमकिन नदी व सिवायचक भूमि पर बढ़ रहे अतिक्रमण व अवैध निर्माण कार्यों की भेंट चढ़ गई। अवैध निर्माण व अतिक्रमण के खिलाफ लामबद्ध 13 पार्षदों ने हस्ताक्षरयुक्त अपना त्यागपत्र पालिका इओ भंवराराम पटेल को सौंप दिया। इसके बाद हरकत में आए पालिकाध्यक्ष व इओं ने पालिका से देय समस्त सुविधाओं रद्द करने सहित इनके विरूद्ध तहसीलदार को नियमानुसार पत्र प्रेषित कर अतिक्रमण हटवाने एवं पौधरोपण के नाम ली भूमि पालिका को सुपुर्द कराने की कार्रवाई का भरोसा दिया। दो घण्टे चली बैठक में सम्पत्ति हस्तान्तरण/नामान्तरकरण के 2 प्रकरण में आपत्ति पर अग्रिम बैठक तक रोकते हुए 76 भवन निर्माण की 27 पत्रावली सर्वसम्मति से पारित की। इसके बाद पालिकाध्यक्ष दिनेश मीणा ने बैठक स्थगन की घोषणा की।…

इससे बैठक एजन्ड़ा के महज तीन बिन्दु को छोडकऱ 16 बिन्दुओं पर चर्चा नहीं हो पाई। पालिकाध्यक्ष मीणा ने इओ पटेल, उपाध्यक्ष दूदाराम बावरी के सान्निध्य में बैठक की कार्यवाही शुरूआत की घोषणा की। पार्षद मांगीलाल गहलोत, पार्षद ओमप्रकाश बोहरा, संजय बोहरा, सोहनलाल प्रजापत, अमृत मीणा, लक्ष्मी शर्मा सहित कोरम ने पिछली बैठक (23 अक्टूबर) में रणकपुर मार्ग पर एक निजी होटल में बिना पालिका स्वीकृति के गैर मुमकिन नदी-नाला, सिवायचक भूमि में चल रहे अवैध निर्माण व दूसरी निजी होटल में पौधरोपण के नाम गैर मुमकिन नदी व सिवायचक भूमि प्राप्त कर उस पर व्यावसायिक गतिविधियां संचालित करने का प्रमाण दिया। बोर्ड ने मौका मुआयना कर जेसीबी से अतिक्रमण मुक्त करवाकर धौरा लगवाया। होटल संचालक ने धौरा हटवा दिया। इसके विरूद्ध पालिका ने कोई कार्यवाही नहीं की। पार्षदों ने प्रशासन पर सांठगांठ का आरोप लगाते हुए 13 पार्षदों ने त्यागपत्र सौंप दिया। इस पर इओ व पालिकाध्यक्ष ने राजस्व अधिकारी इरफान बेग व तहसीलदार माधोराम पुरोहित से फोन पर वार्ता कर आगामी 7 दिन में अतिक्रमण से मुक्त कराने भरोसा दिलाया।

पार्षद आशा मीणा ने नाली निर्माण में आपसी विवाद के शिकार बन रहे ग्रामीणों से समझाइश व निपटारा कराने का आग्रह किया। पार्षद मांगीलाल, ओमप्रकाश ने पालिका परिसर में पड़ी ईमित्र प्लस मशीन के हालात पर आक्रोश जताते हुए हटवाने का आग्रह किया। पार्षद मनोज सुथार व सोहनलाल प्रजापत ने शिक्षक नियुक्ति व विशेषज्ञ चिकित्सक सेवाएं सुलभ कराने का आग्रह किया। इसको लेकर सरकार को पत्र प्रेषित करने का प्रस्ताव लिया। बैठक में शंकर देवड़ा, पुखराज चौधरी, अमृत मीणा, गीता रामपाल मेवाड़ा, भावना मेघवाल, बसन्ती दमामी, सुरेश भाटी, प्रकाश जाट, मानाराम जाट सहित कुल 17 पार्षद उपस्थित रहे।

बैठक में 12 बिन्दुओं पर होनी थी चर्चा

बैठक में भवन निर्माण व नामान्तरण सहित कुल 19 बिन्दुओं पर चर्चा होनी थी। जिसमें इन्द्रकुमारी खुशवीरसिंह जोजावर के नाम पर्यटन इकाई भूमि आवंटन, सफाई कार्मिक दीपक कुमार का स्थायीकरण, सिविल न्यायाधीश आवास निर्माण भूमि उपलब्धता, सरकारी विद्यालयों में शिक्षकों की कमी, हेलीपेड निर्माण भू आवंटन, अनुपयोगी सामान निस्तारण, खांचा भूमि आवंटन, 3 से 4 पार्षदों के प्रतिवेदन सहित पालिका की राजस्व आय बढ़ाने पर विचार विमर्श किया जाना तय था, जिनमें से एक भी बिन्दु पर चर्चा नहीं हुई।

अतिक्रमण पर अधिकारियों को पत्र भेजा

अतिक्रमण व अवैध निर्माण को लेकर पार्षदों ने इओ को त्यागपत्र पेश किया। जिन्हें सन्तुष्ट करने का प्रयास करते हुए त्यागपत्र जिला कलक्टर को प्रेषित करने का आग्रह किया। अतिक्रमण हटाने व होटल में अवैध निर्माण पर राजस्व अधिकारी, तहसीलदार को पत्र प्रेषित की कार्यवाही कर पौधरोपण के नाम देय भूमि होटल संचालक से मुक्त करवाकर उस पर पौधे लगवाने का प्रस्ताव लिया। -दिनेश मीणा, पालिकाध्यक्ष, सादड़ी

पालिका राजकोष को नुकसान

राजस्व प्रशासन व पालिका अतिक्रमण व अवैध निर्माणकर्ताओं के साथ मिलकर पालिका राजकोष को नुकसान पहुंचा कर अतिक्रमण को बढ़ावा दे रहे हैं। अतिक्रमी खुलेआम पार्षदों का मखौल उड़ाकर उन्हे धमकियां दिलाते हैं। जिनके विरुद्ध सख्त कार्रवाई को लेकर हम सभी 13 पार्षदों ने त्यागपत्र इओ व पालिकाध्यक्ष को सौंपा है। उन्होंने सात दिन में कार्रवाई का भरोसा दिलाया है। कार्रवाई के अभाव में जिला कलक्टर को यह सामूहिक त्यागपत्र सौंप दिया जाएगा। – मांगीलाल, शंकर देवड़ा, अमृत मीणा, आशा, लक्ष्मी शर्मा, पार्षद, नगर पालिका, सादड़ी

Check Also

फ्लाइट लेफ्टिनेंट दूल्हे ने टीका लेने से किया इंकार

पाली। राजपूत समाज में बदलाव की आ रहा है। पढ़े-लिखे युवा शादी में लाखों रुपए …