Home / उत्तर प्रदेश / हापुड़ / हापुड़ कृषि मंडी अधिकारी पर इस समय कुर्सी का नशा कुछ इस कदर छाया हुआ

हापुड़ कृषि मंडी अधिकारी पर इस समय कुर्सी का नशा कुछ इस कदर छाया हुआ

हापुड़ उत्तर प्रदेश


 - हापुड़ कृषि मंडी अधिकारी पर इस समय कुर्सी का नशा कुछ इस कदर छाया हुआ है कि मंडी में छोटे सब्जी दुकानदारो पर अतिक्रमण के नाम पर अपनी दबंगई दिखाते हुए मंडी की सरकारी गाड़ी दुकानदारों की सब्जियों पर चढ़वाई, अतिक्रमण हटाने के नाम पर दुकानदारों पर इस तरह कहर बरपाया की जो भी इन तस्वीरों को देख ले उसके आंसू न रुके जहाँ देश की जनता महंगी सब्जियों से परेशान है, मगर सरकारी अधिकारी महंगी सब्जियों को कुचलने में लगे हुए है जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है ।

 आपको बता दें सोशल मीडिया पर सब्जी को कुचलती एक गाड़ी का वीडियो वायरल हो रहा है ये वायरल वीडियो अब से करीब 4 से 5 दिन पुराना बताया जा रहा है जो हापुड की नवीन सब्जी मंडी का है जहां मंडी सचिव ने अपनी गाड़ी अपने ड्राइवर सहित एक अधिकारी को मंडी के अंदर अतिक्रमण हटाने के लिए भेजा था जहां उन्होंने दुकानों के बाहर रखी सब्जी को अपनी गाड़ी से कुचल दिया इस वीडियो को वायरल होने के बाद जब हमारे संवाददाता ने इस सारे वीडियो की पड़ताल की तो यह वीडियो सही पाया गया और इसमें जब हमने मंडी सचिव से वार्ता की उन्होंने बताया उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा मंडियों से अतिक्रमण हटाने के आदेश दिए गए थे जिसके मद्देनजर मैंने अपनी गाड़ी वह एक अधीनस्थ कर्मचारी को मंडी में अतिक्रमण हटाने के लिए भेजा था मंडी सचिव सब्जी को कुचलने की बात को सिरे से नकारते नजर आए लेकिन आप वीडियो में देख सकते हैं कि किस तरीके से गाड़ी सब्जी के ऊपर बार-बार आगे पीछे हो रही है और सब्जी विक्रेता के सब्जी को कुचल रही है देखा जाए तो आखिर मंडी सचिव के ड्राइवर को यह अधिकार किसने दिया कि वह इस तरह से किसी के सामान को कुचले इसको या तो मंडी सचिव की सह कहा जाए या कुर्सी का नशा कहीं ना कहीं इस तरह की कार्यवाही अधिकारियों को सवालों के घेरे में जरूर खड़ा करती है अधिकारियों को चाहिए था ऐसे दुकानदारों के खिलाफ करते या उनकी सब्जियों को जब कर देती लेकिन इस तरह से सब्जी को बेकार करना कहां का न्याय है जहां एक तरफ देश की जनता महंगी सब्जियों की मार से परेशान है तो वहीं इस तरह से सब्जियों को बेकार करना कितना उचित है। 

यह देखें वीडियो👇👇👇👇

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

जनपद हापुड़ में लोकडाउन-5.0 में सुरु हुई बस सेवा-हापुड

रिपोर्ट – अनिल कश्यप लोकडाउन-5.0 में केंद्र सरकार के बस सेवा शुरू करने के निर्णय …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *