Home / देश / हिमाचल के मंडी में सुरक्षित नहीं आधी आबादी, महिला थाने में सबसे ज्यादा मुकदमे |

हिमाचल के मंडी में सुरक्षित नहीं आधी आबादी, महिला थाने में सबसे ज्यादा मुकदमे |

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के गृह जिले छोटी काशी में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। इस बात की तस्दीक महिलाओं की सुविधा के लिए खोले महिला थाने कर रहे हैं। प्रदेश में जिला मंडी, बिलासपुर, चंबा, हमीरपुर, कांगड़ा, कुल्लू, शिमला, सिरमौर, सोलन, बद्दी, ऊना समेत 11 महिला थाने चल रहे हैं। लेकिन, महिला अत्याचार के सबसे अधिक 97 मुकदमे मंडी जिले में दर्ज हैं।

जनवरी, 2018 से 31 जुलाई, 2019 तक मंडी जिले के महिला पुलिस थाने में दुष्कर्म के 17, अपहरण के 6, महिला उत्पीड़न के 34, लज्जा भंग करने और छेड़छाड़ के 15, आईटी और अनुसूचित जाति एवं जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम में 2-2 और अन्य विभिन्न धाराओं में कुल 97 मामले दर्ज हैं।  

मंडी जिले के सरकाघाट थाने के अंतर्गत बुजुर्ग महिला के मुंह में कालिख पोतने और जूतों की माला पहनाकर सड़क पर घसीटने से दुनिया भर में देवभूमि शर्मसार हुई है।

91 मुकदमों के साथ सोलन जिले का बद्दी महिला थाना प्रदेश में दूसरे नंबर पर है। बद्दी में महिला अत्याचार के अधिक मामले दर्ज होने के पीछे एक बड़ी वजह औद्योगिक क्षेत्र है। जहां पर हजारों की संख्या में महिलाएं विभिन्न उद्योगों में काम कर रही हैं। वहीं, प्रवासी लोगों की संख्या भी इस महिला थाना के अंतर्गत अधिक है। जिसके चलते यहां पर दुष्कर्म के 33 और अपहरण के 27 मुकदमे दर्ज हैं। प्रदेश में सबसे कम मामले चंबा जिले में दर्ज हैं। 

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

25 नवंबर से बिना कोरोना रिपोर्ट के एंट्री नहीं

25 नवंबर से बिना कोरोना रिपोर्ट के एंट्री नहीं  महाराष्ट्र महाराष्ट्र जाने के लिए RT-PCR …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *