Home / राजस्थान / करौली / होम आईसोलेट में बरतें सावधानी, घटायें संक्रमण का खतरा -सीएमएचओ

होम आईसोलेट में बरतें सावधानी, घटायें संक्रमण का खतरा -सीएमएचओ

होम आईसोलेट में बरतें सावधानी, घटायें संक्रमण का खतरा -सीएमएचओ 

अभी तक लिये गये 33 सैंपल में से 24 नैगेटिव, जिलेभर में 1634 लोग होम आईसोलेट 

करौली। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग पूरी मुस्तैदी से कोरोना वायरस से निपटने में लगा हुआ है जहां एक ओर विदेश, अन्य राज्य व जिलों से आने वालों पर विभाग की पैनी नजर गढी हुई, वहीं क्षेत्र में विभागीय कार्मिक घरों का सर्वे कर बचाव एवं सर्तकता गतिविधियों से आमजन को अवगत करा रहे हैं। सीएमएचओ डाॅ. दिनेश चंद मीना ने होम आईसोलेट कोरोना संदिग्धों से चिकित्सकीय सलाह एवं सर्तकता का ईमानदारी से पालन करने की अपील कर जन समुदाय को संक्रमण मुक्त रखने की अपेक्षा जताई है। 

सीएमएचओ डाॅ. मीना ने बताया कि जिलेभर में बचाव जागरूकता एवं सावधानियां आमजन द्वारा बरतने की वजह से एक भी कोरोना पाॅजीटिव केस नहीं मिला है जबकि ओपीडी दौरान 33 सैंपल लिये गये ,जिनमें से 24 सैंपल नैगेटिव आये हैं वही 9 जांच प्रक्रियाधीन हैं। उन्होंने बताया कि विदेश, अन्य राज्य व जिलों से आने वाले 1634 लोगों की स्क्रीनिंग कर होम आईसोलेट किया है। जबकि 272 मेडिकल टीमें नियमित किये जा रहे घर-घर सर्वे में 1,48,583 घरों तक पहुंची है जिनमें 5,95,286 लोगों की स्क्रीनिंग की गई। सर्वे में 11788 लोग आईएलआई (खांसी, जुकाम, बुखार) से ग्रसित पाये गये लेकिन इनकी ट्रेवल हिस्ट्री एवं कोरोना संक्रमित से संपर्क नहीं पाया गया। उन्होंने बताया कि 9 आरबीएसके टीमों द्वारा अभीतक 1368 की स्क्रीनिंग की है तथा टीमें होम आईसोलेट लोगों से नियमित संपर्क कर संक्रमण स्थिति देख रही हैं।

उन्होंने बताया कि होम आईसोलेट (घर पर अलग रहने की स्थिति) दौरान घर पर अलग हवादार कमरे में रहें एवं अपने बिस्तर, बर्तन तौलिया एवं शौचालय का अन्य परिजनों का साथ साझा न करें, परिजनों से मेलमिलाप से परहेज करते हुए गर्भवती महिलाओं, बुर्जग, बच्चों एवं कैंसर, बीपी, रक्तचाप की दवा लेने दूर रहें। अपने मुंह पर मास्क लगाकर बातचीत करें एवं देखभाल करने वाले परिजन को संक्रमण मुक्त रखने का यथासंभव प्रयास करें। उन्होंने बताया कि होम आईसोलेट घर से बाहर न निकले यदि वह जनसमुदाय एवं आम रास्तों पर मिलता है तो संक्रमण फैलाव रोक हेतू कार्यवाही की जा सकती हैं।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

बाजारों में भीड़, कैसे हारेगा कोरोना

देवउठनी एकादशी के कारण इस समय बाजारों में जबरदस्त भीड़ उमड़ रही है। लोग बाजारों …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *