Home / राजस्थान / धौलपुर / 100000 लाख रुपए से अधिक राशि का दान-धौलपुर

100000 लाख रुपए से अधिक राशि का दान-धौलपुर

एकीकृत शिक्षक संघ के अध्यक्ष छत्रपाल सिंह व दीवान सिंह बने भामाशाह और किया 100000 लाख रुपए से अधिक राशि का दान।

11फरवरी 2020 को जिले के राजकीय महाविद्यालय राजाखेड़ा में एक वार्षिक रंगारंग कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम में कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अंतरराष्ट्रीय सलाहकार और प्रधानमंत्री राष्ट्रीय स्वच्छताअभियान एमस्डर भारत सरकार आईएलओ संयुक्त राष्ट्र संघ आईटी प्रोफेसर डॉ डीपी शर्मा रहे।

जहां कार्यक्रम के कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि शिक्षक संघ एकीकृत के ब्लॉक् अध्यक्ष छत्रपाल सिंह व दीवान सिंह रहे।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में अतिथि रहे प्रोफेसर डॉ डीपी शर्मा का एकीकृत संघ द्वारा साफा व माला पहनाकर स्वागत किया। 

वहीं कार्यक्रम में कार्यक्रम के चलते कालेज के प्रोफेसर श्रीमती मेंडम द्वारा महाविद्यालय हेतु दान कोष की बात रखी गई।  

इस अवसर पर एकीकृत शिक्षक संघ के जिला संस्थापक चन्द्रभान चौधरी, जिला अध्यक्ष रेखा शर्मा द्वारा किये जा रहे सामाजिक सरोकार, बालिका शिक्षा को बढावा देना व आदि सामाजिक कार्यक्रम में एकीकृत अपना योगदान देता रहा।

इसी की प्रेरणा से ब्लाक अध्यक्ष छत्रपाल सिंह एकीकृत शिक्षक संघ राजाखेड़ा द्वारा राजकीय महाविद्यालय में ₹51000 हजार का चेक दान किया और और सभा अध्यक्ष दीमानसिंह द्वारा भी 51000रुपया का दान देकर छात्राओं के लिए अपना एक दान प्रदान किया।

इसके साथ ही आगे भी दान के लिए शिक्षक संघ एकीकृत हमेशा तैयार रहेगा आदि बताया।

इस अवसर पर संघ पदाधिकारी सोबरन सिंह ठाकुर मुरारी लाल, ठाकुर बचन सिंह, ठाकुर राजेश सिंह, लक्ष्मी नारायण शर्मा, महावीर प्रसाद, डब्बलियाराम, चौरसिया, ठाकुर उर्मिला देवी एएनएम सहित आदि के कार्यक्रम में सैकड़ों की संख्या में समाजसेवी लोगों उपस्थित रहे।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

रेलवे ट्रैक बाधित करने वालों पर रेलवे प्रशासन व आरपीएफ करेगी केस दर्ज

गुर्जर आरक्षण आंदोलन के चलते आज रेलवे प्रशासन व आरपीएफ ने बड़ा फैसला लिया है। …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *