Home / राजस्थान / भीलवाड़ा / 1456 ईंट भट्टा मजदूर श्रमिक स्पेशल ट्रेन से बिहार के लिए हुये रवाना, मजदूरों के चेहरों पर झलकी खुशी भीलवाड़ा

1456 ईंट भट्टा मजदूर श्रमिक स्पेशल ट्रेन से बिहार के लिए हुये रवाना, मजदूरों के चेहरों पर झलकी खुशी भीलवाड़ा

1456 ईंट भट्टा मजदूर श्रमिक स्पेशल ट्रेन से बिहार के लिए हुये रवाना, मजदूरों के चेहरों पर झलकी खुशी

भीलवाड़ा-(मूलचन्द पेसवानी)

प्रवासी मजदूरों को बिहार के लिए सोमवार को चौथी ट्रेन भीलवाड़ा से रवाना हुई। जिला कलेक्टर राजेन्द्र भट्ट ने 1456 ईट्ट-भट्टा मजदूरों को बिहार के लिए रवाना किया। ट्रेन से पहले इन श्रमिकों को बसों के माध्यम से यहां पर लाया गया था। ट्रेन रवाना हुई तो मजदूरों की खुशी का कोई ठिकाना नहीं था। यात्रियों का कहना था कि जिस तरीके के व्यवस्था रेलवे स्टेशन पर की गई है, वह यकीनन काबिले तारीफ है। हम लोगों से टिकट नहीं लिया गया है और खाने-पीने के लिए अलग से पैकेट भी दिए गए हैं। प्रशासन ने 1470 यात्रियों के रेलवे टिकिट खरीदे, लेकिन 14 यात्री नहीं आये। श्रमिकों को जिला कलेक्टर राजेन्द्र भट्ट, एसडीएम टीना डाबी और एडीएम सिटी नन्द किशोर राजौरा, रेलवे स्टेशन अधीक्षक राधेश्याम शर्मा, एएसपी राजेश मीणा ने करतल ध्वनी के साथ विदाई दी। 

स्पेशल ट्रेन को भीलवाड़ा के जिला कलेक्टर राजेंद्र भट्ट सहित प्रशासन और पुलिस के अधिकारियों ने तालियां बजाकर रवाना किया। ट्रेन में सवार बिहार के लोगों ने भीलवाड़ा के प्रशासन का शुक्रिया अदा किया। श्रमिकों की रवानगी से पूर्व स्क्रीनिंग एवं चिकित्सकीय परीक्षण किया गया। इसके साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग की पालना एवं अन्य बेहतरीन व्यवस्थाओं को लेकर श्रमिकों ने जिला प्रशासन का विशेष आभार जताया। भीलवाड़ा रेलवे स्टेशन से बांका और भागलपुर के लिए यह विशेष रेलगाड़ी 1456 श्रमिकों को लेकर रवाना हुई। इससे पहले भीलवाड़ा रेलवे स्टेशन पर श्रमिको की रवानगी के लिए समुचित व्यवस्थाएं जुटाने का कार्य रविवार से शुरू हो गया था। प्रशासन ने 1470 श्रमिकों के लिए 9 लाख 92 हजार रुपये के टिकिट खरीदे थे, लेकिन 14 यात्री नहीं आये।

अजमेर से सैनेटाइज की गई ट्रेन भीलवाड़ा पहुंची। रेलवे स्टेशन हुंचने वाले सभी मार्गों पर पुलिस जाब्ता तैनात था। किसी भी गैर जरूरी व्यक्ति को प्लेटफार्म पर प्रवेश नहीं दिया गया। इस मौके पर जिला कलेक्टर भट्ट के साथ ही एडीएम सिटी, एएसपी, एसडीएम टीना डाबी, डीएसपी राहुल जोशी सहित पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों के साथ ही स्टेशन अधीक्षक राधेश्याम शर्मा, तुलसीराम, गोवर्धनराम कच्छावा सहित रेलवे स्टॉफ मौजूद रहा। इससे पूर्व भीलवाड़ा से उत्तरप्रदेश के चित्रकूट के लिए एक, जबकि बिहार के लिए दो ट्रेनों से प्रवासी श्रमिक भेजे जा चुके हैं। सोमवार को बिहार के लिए यह तीसरी ट्रेन रवाना हुई। 

आसींद उपखंड के 11 ईंट भट््टों पर कार्यरत इन श्रमिकों को भट्टों से स्टेशन तक लाने के लिए प्रशासन ने रोडवेज की 36 बसें लगाई। इन बसों से श्रमिक सुबह से ही स्टेशन पहुंचने शुरू हो गये। यह सिलसिला ट्रेन रवाना होने से कुछ समय पहले तक चलता रहा। आखिर तक 1456 यात्री ही स्टेशन पहुंचने के बाद ट्रेन से रवाना हुये। 

प्रशासन की ओर से रेलवे स्टेशन पर दस काउंटर लगाये गये। इन काउंटर पर नियुक्त स्टॉफ के माध्यम से प्रवासी श्रमिकों को एक-एक मास्क और सैनिटाइजर उपलब्ध करवाया गया। इसके अलावा नागरिक सुरक्षा सेवा दल के कार्मिकों के साथ ही स्टेशन पर उपलब्ध स्टॉफ के जरिये इन श्रमिकों को कोच में ही भोजन व पानी की बोतलें उपलब्ध करवाई गई।

जिला कलक्टर राजेंद्र भट्ट ने बताया कि आज जो लोग बिहार रवाना हुए हैं, वे ईंट-भट्टों पर काम करने वाले मजदूर हैं। अब बरसात का मौसम शुरू होने वाला है। ऐसे में ईंट-भट्टों का काम बंद रहेगा। इन लोगों ने घर जाने के लिए आवेदन किया था। इस पर इन लोगों के जाने की व्यवस्था की गई। कलक्टर ने बताया कि अब शेष श्रमिक भी घर जाना चाहेंगे तो उन्हें भेजने की व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने कहा कि 1456 लोगों को आज बिहार रवाना किया गया है और इनमें 20-30 लोग ऐसे भी थे, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया था तो उन्हें भेजने की व्यवस्था भी की गई। उन्होंने बताया कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार इन लोगों को भेजा गया है।

जिला कलेक्टर राजेन्द्र भट्ट ने कहा कि बारिश के मासूम के कारण ईट्ट-भट्टों पर अभी काम बन्द हो गया। जिसके कारण बिहार के श्रमिक अपने घर जाने के लिए आवेदन कर रहे थे। इसके कारण आज हमने 1 हजार 4 सौ 56 श्रमिकों को यहां से ट्रेन के माध्यम से भेजा है। भट्ट ने यह भी कहा कि अभी फैक्ट्रियां चालू होने के कारण अब श्रमिकों के आवेदन कम हो गये है। यदी फिर भी श्रमिकों के आवेदन आते है तो उन्हे घर भेजा जायेगा।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, सौंपे सीएम सहायता राशि के चेक

चित्तौड़गढ़-कोटा राष्ट्रीय राजमार्ग दुर्घटना भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *