Home / राजस्थान / धौलपुर / 24 मार्च से लगातार चल रहा श्री विश्नगिरि सेवा समिति का नर नारायण सेवा का कार्य-धौलपुर

24 मार्च से लगातार चल रहा श्री विश्नगिरि सेवा समिति का नर नारायण सेवा का कार्य-धौलपुर

24 मार्च से लगातार चल रहा श्री विश्नगिरि सेवा समिति का नर नारायण सेवा का कार्य

कोरोना वायरस महामारी के कारण देश-प्रदेश-शहरों में उत्पन्न हुई परिस्थितियों से आप सभी भली-भांति परिचित हो रहे ही होंगे। 

ऐसी विपरीत विकट परिस्थितियों में जिले की श्री विश्नगिरि सेवा समिति बाड़ी जिला धौलपुर द्वारा क्षेत्र और क्षेत्र नजदीक में रहने वाला व्यक्ति जो आर्थिक रूप से सक्षम नहीं है और जिसे खाने की सामग्री की आवश्यकता है उसके लिए श्री विशिनगिरि सेवा समिति बाड़ी जिला धौलपुर द्वारा ऐसे लोगों को भोजन की सूखी सामग्री एवं खाने के पैकेट घर- घर पहुंचाने का लिए गए संकल्प को लेकर कार्य किया जा रहा है।

संकल्प को लेकर 24 मार्च से सेवा समिति द्वारा जरूरतमंद लोगों को सूखी सामग्री की किट और खाने के तैयार कराये गये पैकेटों को घर- घर पहुंचवाया जा रहा है। 

खबर को लेकर कृष्णकांत शर्मा जी से मिली जानकारी के अनुसार बताया जाता है कि सेवा समिति के सभी सदस्य सुबह 5:00 बजे ही आ जाते हैं और इस कार्य में अपना अपना भरपूर सहयोग देकर अपना पूरा योगदान दे रहे हैं।

वहीं खबर को लेकर सेवा समिति के सदस्य पवन बंसल के साथ संगीत शर्मा ने बताया लगभग रोजाना 400 पैकेट खाने के हम बनाकर क्षेत्र एरिया में बांटते हैं।

समिति सदस्य जरूरतमंद लोगों को घर- घर जाकर यह खाने के पैकेट देकर आते हैं।

इसके साथ ही सेवा समिति के सभी सदस्य इसमें अपना बढ़-चढ़कर पूरी रुचि के साथ भाग ले रहे हैं।

सेवा समिति के इस कार्य को लेकर शहर के लोग सेवा समिति की प्रशंसा भी कर रहे हैं।

सेवा समिति शहर के नागरिकों से बार-बार अपील के साथ अपील करता है कि आप बाहर नां निकलकर अपने घर पर ही रहे और सुरक्षित रहें।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

रेलवे ट्रैक बाधित करने वालों पर रेलवे प्रशासन व आरपीएफ करेगी केस दर्ज

गुर्जर आरक्षण आंदोलन के चलते आज रेलवे प्रशासन व आरपीएफ ने बड़ा फैसला लिया है। …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *