Breaking News
Home / राजस्थान / चित्तौडग़ढ़ / 33वीं फेडरेशन कप वाॅलीबाल चेम्पियनशीप का हुआ आगाज-चित्तौडगढ

33वीं फेडरेशन कप वाॅलीबाल चेम्पियनशीप का हुआ आगाज-चित्तौडगढ

33वीं फेडरेशन कप वाॅलीबाल चेम्पियनशीप का हुआ आगाज

रेलवे ने जीता उद्घाटन मैच

चित्तौडगढ- मूलचन्द पेसवानी 

कृषि मंत्री लालचंद कटारिया ने कहा कि नई प्रतिभाओं को खेलों केे क्षेत्र में आगे लाने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत काफी अधिक रूचि ले रहे है, एवं गत कुछ वर्षो से विभिन्न विभागों द्वारा आयोजित की जाने वाली खेल प्रतियोगिताएं जो कि बंद हो गयी थी, उनको पुनः प्रारंभ करवाया गया हैं।

कटारिया ने शनिवार सांय यहां प्रताप वाॅलीबाल स्टेडियम में प्रारंभ राष्ट्रीय 33वीं फेडरेशन कप वाॅलीबाल चेम्पियनशीप का शुभारंभ करते हुए मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित करते हुए कहा कि बचपन से खेलों से उनका भी जुडाव रहा है, एवं वह बचपन में कबड्डी खेलते रहे हेै, लेकिन कई बार दर्शक दीर्घा में बैठकर वह वाॅलीबाल के मेैच का भी आनन्द लेते रहे है। कटारिया ने कहा कि जितने भी खिलाडी है, चाहे वह बुजुर्ग हो क्यों न हो गये हों , उन्हें इस आयोजन को देखने के लिए आना चाहिए, क्योकि खिलाडी का मन हमेशा जवान रहता है।

मुख्य अतिथि ने देशभर से महिला एवं पुरूष वर्ग में आयी 14 नामी टीमों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि खेलों के प्रति मुख्यमंत्री अशोक गहलोत काफी रूचि ले रहे है, एवं उन्होंने खेलों को बढावा देने के लिए गत एक वर्ष में कई कदम उठाये है।

उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता करते हुए सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ने इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त की कि चित्तौडगढ में इस तरह का बडा आयोजन हो रहा है, जहां देश की टीम का भी चयन किया जाएगा। आंजना ने उम्मीद व्यक्त कि चयनित देश की टीम एशिया कप में भारत का नाम रोशन करेगी, और उस समय चित्तौडगढ का नाम खिलाडियों को अवश्य याद आयेगा। उन्होंने कहा कि जिस तरह उद्घाटन मेच में ही दर्शकों ने इस आयोजन को लेकर रूचि दिखाई है, उसको देखकर उन्हें पुरी उम्मीद है कि आने वाले सभी मैचों के दौरान यहां दर्शकों का भरपुर उत्साह देखने को मिलेगा।

सहकारिता मंत्री ने कहा कि आज क्रिकेट का जमाना होने के बावजूद गांव गांव में वाॅलीबाल खेल के प्रति उत्साह कम नही हुआ है, जो कि कम व्यय से खेला जा सकता है। उन्होनें उम्मीद व्यक्त की कि वाॅलीबाल की पहचान भी क्रिकेट की तरह बन सकेगी। 

आंजना ने इस अवसर पर आयोजन अध्यक्ष एवं जिला कलेक्टर चेतन देवडा द्वारा भी इस आयेाजन को सफल बनाने के लिए उनके द्वारा किये गये प्रयास का उल्लेख करते हुए मुख्य मंत्री अशोक गहलोत द्वारा शुक्रवार को वीसी के दौरान जिला कलेक्टर की प्रशंसा किये जाने का उल्लेख करते हुए कहा कि जिला कलेक्टर द्वारा जिले में गरीबों की, की जा रही सेवा उल्लेखनीय है। मुख्यमंत्री के मंुह से तारीख मुश्किल से निकलती है।

  

विशिष्ट अतिथि के रूप में पूर्व विधायक सुरेन्द्रसिंह झाडावत ने उम्मीद व्यक्त की कि खिलाडी यहां से अच्छी याद लेकर जाऐंगे।

समारोह के प्रारंभ में अतिथियों ने ध्वजारोहण किया, जिसके पश्चात अतिथियों ने ट्रोफी का अनावरण किया। स्वागताध्यक्ष एवं अतिरिक्त जिला कलेक्टर मुकेश कलाल ने खिलाडियों एवं अधिकारियों का स्वागत करते हुए सभी को सांवलिया सेठ की नगरी आने के लिए भी आमंत्रण दिया। 

आयोजन समिति के अध्यक्ष एवं जिला कलेक्टर चेतन देवडा ने इस अवसर पर शहर एवं जिले के खेल प्रेमियों से इस आयोजन केा देखने के लिए उन्हें आमंत्रित करते हुए कहा कि इस दौरान उन्हें अंतराष्ट्र्रीय स्तर के कई खिलाडियों का प्रदर्शन देखने का अवसर भी मिल सकेगा। उन्होंने कहा कि यहां के लिए यह सोभाग्य की बात है कि 33 वर्षो बाद इस चेम्पियनशीप का आयोजन यहां किया जा रहा है। 

आयोजन समिति के सचिव एल.एल. पोखरना ने कहा कि यूनियन क्लब की स्वर्ण जयंति के उपलक्ष्य में यह आयोजन किया जा रहा है। प्रतियोगिता के दौरान वाॅलीबाल का उत्कृष्ट खेल देखने को मिल सकेगा। पोखरना ने इस आयोजन को सफल बनाने के लिए सभी भामाशाह, प्रायोजकों आदि के प्रति आभार व्यक्त किया।

इस आयोजन को यहां करवाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले वाॅलीबाल फेडरेशन के महासचिव रामावतार जाखड ने कहा इस धरती की एवं यहां के लोगों की पुकार के कारण ही यह आयोजन यहां संभव हो सका। उन्होंने कहा कि यह कोई छोटा आयोजन नही है बल्कि बहुत बडा आयेाजन है, जहां कि वाॅलीबाल के एक से बढकर एक बेहतरीन मैच देखने केा मिल सकेंगे। आयोजन के द्वारा एशिया कप के लिए पुरूष एवं महिला वर्ग में भारतीय टीम का चयन भी किया जाएगा, जिसके लिए सलेक्शन कमेटी के सदस्य यहां पहुंच चुके है। 

जिला वाॅलीबाल संघ के अध्यक्ष एंव यूनियन क्लब के सचिव ललित सेठिया ने आभार व्यक्त किया। प्रो. सी.एम. रांका , आर.एल. मारू पारसमल नागौरी ने संचालन किया। समारोह में सभापति संदीप शर्मा, शहर कांग्रेस अध्यक्ष प्रेमप्रकाश मून्दडा भी अतिथि के रूप में मौजुद थे। अतिथियों का आयोजन समिति के सदस्य प्रदीप काबरा, ललित सेठिया , सी.एम. रांका, पारस नागौरी, अरूण कण्डारा, राजेन्द्र मालू, बेडमिन्टन संघ के प्रदेशाध्यक्ष महेश ईनाणी, भंवरलाल शर्मा, फतह मोहम्मद, सुरेश भण्डारी, भगवती मालू , आशीष पोखरना, इश्तियाक हुसैन, कैलाश ईनाणी, अहसान मोहम्मद, नेमीचंद, गोपाल कोदली, पन्नालाल , करणसिंह सांखला आदि द्वारा अतिथियों का माल्यार्पण कर स्वागत किया गया। 

समारोह में वी.एफ.आई के उपाध्यक्ष रथिनराय चैधरी, कंट्रोल कमेटी के चेयरमेन विजयपालसिंह, अर्जुन एवं द्रोणाचार्य अवार्ड से सम्मानित श्रीधरन, वीएफआई के सहसचिव कुलदीप मगोत्रा, नालकण्ठ बशीर, संयुक्त सचिव प्रो. बालासाहेब सूर्यवंशी, आर.आर. पटेल, सुनील तिवारी, सचिव आसाम वाॅलीबाल संघ डाॅक्टर सीपी सेकिया, मणिपुर वाॅलीबाॅल संघ सचिव बालेश्वरसिंह आदि मौजुद थे। 

उद्घाटन के पश्चात कृषि मंत्री एंव सहकारिता मंत्री ने सर्विस कर प्रतियोगिता का शुभारंभ कर उद्घाटन मैच की दोनों टीमों आसाम व भारतीय रेलवे के खिलाडियों से परिचय प्राप्त किया। उद्घाटन मेेच मे आसाम की टीम के खिलाडियों ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए पहला सेट जीत लिया, लेकिन दुसरे सेट में रेलवे ने कोई गलती नही की एवं दुसरा सेट जीत कर बराबरी कर ली। तीसरे सेट में दोनों टीमों के खिलाडियों ने शानदार सर्विस , स्मेश, ब्लाॅकिंग , पावर सर्विस, डिफेंस का प्रदर्शन किया, लेकिन रेलवे की टीम तीसरे सेट में भी बढत बनाने में सफल रही। चैथे सेट में भी रेलवे ने अपना दबदबा बनाये रखा एवं 3-1 से जीत कर उद्घाटन मैच जीत लिया। उद्घाटन मैच जीतने के बाद रेलवे टीम के कप्तान असवलराय ने इस जीत के लिए अपने सभी खिलाडियों एवं टीम वर्क को जीत का श्रेय देते हुए बताया कि डिफेंस एवं ब्लोकिंग के कारण टीम को जीत मिल सकी। अंतर्राष्ट्री मेच खेल चुके कप्तान ने इसी तरह अगला मैच जीतने की उम्मीद व्यक्त की। रेलवे ने पहला मैच 21-25 से गंवाया लेकिन दुसरा सेट 25-18, तीसरा 25-20, चैथा 29-27 से जीत लिया। उद्घाटन मैच के बाद दुसरा मैच महिला वर्ग में पश्चिम बंगाल एवं राजस्थान के बीच प्रारंभ हुआ। अतिथि के रूप में जिला कलेक्टर चेतन देवडा एवं अतिरिक्त जिला कलेक्टर मुकेश कलाल ने दोनों टीमों से परिचय प्राप्त किया। राजस्थान की टीम को स्थानीय दर्शकों का हुटिंग में भरपुर सहयोग मिला।   

 मैच को देखने के लिए बडी संख्या में खेलप्रेमियों के साथ ही यहां आये विदेशी पर्यटक भी मौजुद थे। मैच का प्रसारण स्टेडियम में विशेष तौर पर लगायी गयी दो एल.ई.डी. के माध्यम से भी किया जाता रहा। चित्तौडगढ में पहली बार किसी खेल प्रदर्शन के दौरान एल.ई.डी स्क्रीन बाउण्ड्री लगायी गयी, जो खेल प्रेमियो के लिए आकर्षण का केन्द्र बनी रही।

आयोजन सचिव एल.एल. पोखरना के अनुसार प्रतियोगिता के दौरान सभी मैच बेस्ट आॅफ फाइव से होंगे, जिसके तहत तीन सेट जीतने वाली टीम विजेता होगी। 

     आज के मैच

प्रतियोगिता में रविवार को पहला मैच दोपहर 2.30 बजे महिला वर्ग में रेलवे एवं राजस्थान के बीच होगा। अपराह्न 4 बजे पुरूष वर्ग में तमिलनाडू एवं राजस्थान के बीच, सांय 5.30 बजे कर्नाटक एवं भारतीय सेना, 7 बजे आसाम एवं भारतीय विश्वविद्यालय एवं अंतिम मेैच रात्रि 8.30 बजे रेलवे एवं केरला के बीच होगा। 

भोजन व्यवस्था से खुश दिखाई दिये खिलाडी  

आयोजन के दौरान आयोजकों की ओर से सभी खिलाडियों को भत्ता दिया जाएगा, लेकिन इसके साथ ही उनके लिए निशुल्क आवास एवं भोजन की व्यवस्था भी की गई है। हलवाई पूसाराम की टीम पहले दिन खिलाडियों की मेजबानी में लगी रही, जिसके द्वारा खिलाडियों को गरमा गरम चपाती जब परोसी गई तो खिलाडी काफी खुश दिखाई दिये। 

आकर्षण का केन्द्र बने वाई सुब्बाराम

उदघाटन मेैच मे आसाम के वाई सुब्बाराम अपनी लम्बाई के लिए आकर्षण का केन्द्र बने रहे जिनकी लंबाई लगभग 7 फीट है, जो कि एशिया के पहले बेस्ट खिलाडी रह चुके है, एवं वर्तमान मे आसाम की टीम में मैनेजमेंट टीम भी शामिल है।

    की गई है केन्टीन की व्यवस्था

आयोजन स्थल पर ही खिलाडियों आदि की सुविधा के लिए केन्टीन की व्यवस्था की गई है, जहां खिलाडियों के लिए विशेष तौर पर दुध, लस्सी आदि की व्यवस्था उपलब्ध रहेगी। 

15 वर्षो बाद हुआ इस तरह का आयोजन

यूनियन क्लब के सचिव ललित सेठिया के अनुसार 2005 में क्लब के तत्वाधान में ही इसी स्टेडियम में इस तरह की राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता का आयोजन नेशनल सुपर लीग के रूप में किया गया था, जिसमें देश की 10 नामी टीमों ने भाग लिया था, जबकि फेडरेशन कप वाॅलीबाल का आयोजन राजस्थान में 33 वर्षो बाद हो रहा है।