Home / उत्तराखंड / चमोली / DM नें किया सखी वन स्टॉप सेंटर का औचक निरीक्षण,पाई कई खामियां
DM नें किया सखी वन स्टॉप सेंटर का औचक निरीक्षण
DM नें किया सखी वन स्टॉप सेंटर का औचक निरीक्षण

DM नें किया सखी वन स्टॉप सेंटर का औचक निरीक्षण,पाई कई खामियां

जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने शुक्रवार को सखी वन स्टाॅप सेंटर का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान वन स्टाप सेंटर की व्यवस्थाओं में कई खामियां पाई गई। जिलाधिकारी ने डीपीओ को सखी वन स्टाप सेंटर के समस्त महिला कार्मिकों में कार्य आवंटित करने तथा सेंटर इंचार्ज को सेंटर की व्यवस्थाओं में मिली खामियों को तत्काल दुरूस्त करने के निर्देश दिए।
जिलाधिकारी ने सेंटर एडमिनिस्ट्रेटर से सखी वन स्टाप सेंटर में दैनिक कार्यो के बारे में जानकारी ली। उन्होंने पूछा कि पीडित महिलाओं को वन स्टाप सेंटर से सुविधाए पहुॅचाने के लिए क्या किया जा रहा है, जिस पर एडमिनिस्ट्रेटर कोई संतोषजनक उत्तर नही दे पाए। वही आईटी एक्सपर्ट से सेंटर में सखी डेश बोर्ड पर ऑनलाइन रिपोर्ट दिखाने को कहा गया तो सेंटर में कम्प्यूटर सिस्टम ही डिस्कनेक्ट मिला। जिस पर जिलाधिकारी ने फटकार लगाते हुए डीपीओ को आईटी एक्सपर्ट और सेंटर एडमिनिस्ट्रेटर को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने डीपीओ को यह भी निर्देश दिए कि सखी वन स्टाप सेंटर में जो महिला कार्मिक कार्य करने में असमर्थ है उसको 15 जनवरी तक हटाकर उसके स्थान पर योग्य महिला कार्मिक नियुक्त करना सुनिश्चित करें। उन्होंने सेंटर एडमिनिस्ट्रेटर को सख्त हिदायत देते हुए वन स्टाप सेंटर में किए जा रहे कार्यो का रिकार्ड अपडेट रखने को कहा। उन्होंने निर्देश दिए कि समाज कल्याण, श्रम विभाग, आंगनबाडी केन्द्रों, जज कोर्ट, पुलिस एवं चिकित्सा विभाग आदि से समन्वय करते हुए हिंसा से पीडित महिलाओं को वन स्टाप सेंटर के माध्यम से न्याय पहुंचाने के लिए ठोस कार्ययोजना तैयार करें और कैम्प लगाकर महिला अधिकारों के बारे में जागरूक करें ताकि हिंसा से पीडित महिलाओं को पुर्नवास में मदद मिल सके।
जिलाधिकारी ने डीपीओ को वन स्टाप सेंटर में कार्यरत सभी महिला कार्मिकों में कार्य आवंटन करने, नेटवर्क की सुविधा के लिए डोंगल रखने, सेंटर में सीसीटीवी कैमरा की व्यवस्था करने और शुद्व पेयजल के लिए फिल्टर लगाने के भी निर्देश दिए। इस दौरान जिलाधिकारी ने सेंटर में कार्यरत महिला कार्मिकों की उपस्थिति पंजिका की निरीक्षण भी किया।
बता दें कि निजी और सार्वजनिक स्थानों पर, परिवार समुदाय के भीतर तथा कार्यस्थलों पर हिंसा से पीड़ित महिलाओं को न्याय प्रदान करने के लिए जिले में विकास भवन (पेट्रोल पम्प) के निकट लोनिवि के पूल्ड आवास में सखी वन स्टाॅप सेंटर का संचालित हो रहा है। यहाॅ पर हिंसा से पीडित महिलाओं को अस्थायी आश्रय, पुलिस डेस्क, विधि सहायता, चिकित्सा एवं काउन्सलिंग की सुविधा दी जा रही है। इसके लिए सखी वन स्टाप सेंटर में सेंटर एडमिनिस्ट्रेटर, आईटी एक्सपर्ट, केस वर्कर, मल्टीपरपज व पैरामेडिकल स्टाॅफ, सिक्योरिटी गार्ड सहित 12 महिला कार्मिकों का स्टाफ रखा गया है।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

हंस फाउंडेशन दे रहा है जोशीमठ के सभी गांव में अपनी सेवा

हंस फाउंडेशन हेल्प एज संस्था आज से अपनी पूर्ण सेवा जोशीमठ के सभी गांव में …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *